Blog single photo

स्वीडन के खिलाफ सिर्फ जीत से बनेगी जर्मनी की बात

जर्मनी को ड्रॉ से भी राहत नहीं मिलने वाली क्योंकि अगर मेक्सिको ने अपने अगले मैच में साउथ कोरिया को हरा दिया तो भी वह दूसरे राउंड में जगह नहीं बना पाएगा।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (23 जून): जर्मनी के फीफा वर्ल्ड कप के पहले दौर से ही बाहर होने के बारे में शायद पहले किसी ने नहीं सोचा था, लेकिन पहले मैच में मेक्सिको के खिलाफ उसकी हार के साथ ऐसी अनहोनी का खतरा उसके ऊपर मंडराने लगा है। इस खतरे को टालने के लिए जर्मनी को आज स्वीडन पर किसी भी हाल में जीत हासिल करनी होगी।जर्मनी को ड्रॉ से भी राहत नहीं मिलने वाली क्योंकि अगर मेक्सिको ने अपने अगले मैच में साउथ कोरिया को हरा दिया तो भी वह दूसरे राउंड में जगह नहीं बना पाएगा। आपको बता दें कि अगर जर्मनी स्वीडन से हार गया वहीं मेक्सिको और साउथ कोरिया मैच ड्रॉ होता है तो भी गत चैंपियन टीम बाहर हो जाएगी।यदि ऐसा होता है तो 1938 के बाद यह पहली बार होगा जब कोई गत चैंपियन टीम ग्रुप स्टेज से ही बाहर हो जाएगी। स्वीडन अगर मुबाबले में जीत हासिल करने में सफल रहती है तो वर्ल्ड कप में 60 साल बाद जर्मनी के खिलाफ उसकी यह पहली जीत होगी। आपको बता दें कि स्वीडन ने वर्ल्ड कप में आखिरी बार जर्मनी को 1958 में अपनी मेजबानी में हुए वर्ल्ड कप में हराया था। जर्मनी का सामना जान्ने एंडरसन की मजबूत टीम से है जिसके पास यूरोप के सबसे प्रतिभाशाली स्ट्राइकरों में से एक एमिल फोर्सबर्ग हैं।वहीं अगर दोनों टीमों की प्रदर्शन की बात की जाए तो जर्मनी का पलड़ा स्वीडन के मुकाबले काफी भारी नजर आ रहा है। जर्मनी ने पिछले 4 मैचों में स्वीडन के खिलाफ तीन मुकाबलों में जीत दर्ज की है। जर्मनी ने अब तक स्वीडन के खिलाफ 36 मैच खेले हैं जिनमें 70 गोल दागे हैं।

Tags :

NEXT STORY
Top