पुलिस की स्पेशल यूनिट के लिए फीमेल ऑफिसर्स का मेल सीनियर्स ने लिया ऐसा टेस्ट...

नई दिल्ली (11 अप्रैल): मैक्सिको में फीमेल पुलिस ऑफिसर्स ने शिकायत की है कि उन्हें उनके मेल सुपीरियर्स ने उन्हें खूबसूरती के परीक्षण से गुजरने के लिए मजबूर किया। उन्हें नई ऑल-वीमेन यूनिट में भर्ती करने के लिए इस तरह मजबूर किया गया।

ब्रिटिश अखबार 'द इंडिपेंडेंट' की रिपोर्ट के मुताबिक, मेल ऑफिसर्स ने ये परीक्षण करने के दौरान मैक्सिको के शहर कीरेटैरो में उनके वेट और अपीयरेंस पर कमेंट्स भी किए। महिलाओं की मदद करने वाले एक एनजीओ Coincidir Mujeres ने इसकी जानकारी दी।

दो ऑफिसर्स ने स्टेट ह्यूमन राइट्स कमिशन से शिकायत की है। एनजीओ के फेसबुक पेज पर साझा किए गए दस्तावेजों में पुलिस ऑफिसर्स की गवाही भी शामिल है। जिसमें कहा गया है, "जानवरों की तरह, हमें कई टेस्ट्स से गुजरना हुआ। वातावरण क्रोध, बेबसी, ऊब और उदासी से भरा हुआ था।"

इस बयान में दुर्व्यवहार, अपमान और अधिकारों के उल्लंघन का ज़िक्र किया गया है। पुलिस ऑफिसर मिस ओकैम्पो ने कहा, "मेरी ट्रेनिंग एक पुलिस ऑफिसर के तौर पर हुई है, ना कि एक शो-गर्ल की तरह।"

ऑल-फीमेल पुलिस स्क्वैड ने तब पूरी दुनिया का ध्यान खींचा था, जब मैक्सिकन प्रेसीडेंट एनरीक पेना नीटो के साथ उनकी 2013 में एक तस्वीर सामने आई थी। ओकैम्पो का कहना है कि पुलिस के भीतर भी सेक्सुअल हैरेसमेंट के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हुई है। इससे मानवाधिकारों के उल्लंघन भी को लेकर भी चिंता बढ़ा दी है। 

संयुक्त राष्ट्र के अधिकारियों के मुताबिक, मैक्सिको में यौन हिंसा एक बड़ी समस्या बनी हुई है। महिलाओं के खिलाफ होने वाली हिंसा के मामले में विश्व में 20 सबसे खराब देशों में शामिल है। नेशनल सिटिजन फीमिसाइड ऑबजर्बेटरी के मुताबिक, हर दिन देश में 6 महिलाओं की हत्या की जाती है।