संयुक्त अरब अमीरात भारत को ईंधन देगा और भारत यूएई को 'भोजन' देगा

नई दिल्ली (6 मार्च): संयुक्त अरब अमीरात भारत को ईंधन देगा और भारत, संयुक्त अरब अमीरात को भोजन देगा। जीं हां, ऊर्जा सुरक्षा के क्षेत्र में भारत की जरूरतों को पूरा करने के संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के कदम पर भारत एक नई योजना बना रहा है। इस योजना से भारत यूएई की फूड सिक्यॉरिटी इंट्रेस्ट पूरा करने में मदद करेगा। इसके लिए दोनों देश मिलकर भारत के लिए एक महत्वकांक्षी ढांचा तैयार कर रहे हैं।

अबू धाबी के शहजादे के हाल के दौरे के बाद दोनों देश अपनी लीडरशिप के इरादों को पूरा करने की कोशिशों में लगे हैं। इसका उद्देश्य पीएम मोदी के अगस्त 2015 में अबू धाबी दौरे पर और जनवरी 2017 में दोनों देशों के बीच हुए समझौता हस्ताक्षरों का रिजल्ट जानना है।

विदेश मंत्रालय में सचिव के मुताबिक, 'अपने पहले कदम के रूप में भारत 'फार्म-टू-पोर्ट' नाम के एक प्रॉजेक्ट पर काम कर रहा है।' यह प्रॉजेक्ट स्पेशल इकनॉमिक जोन की तरह ही है, लेकिन इसमें कॉर्परटाइज्ड खेत होंगे। इन खेतों में यूएई के बाजारों को ध्यान में रखते हुए फसल उगाई जाएगी। इसके साथ ही इनमें बंदरगाह तक के लिए डेडकेटिड लोजिस्टिक्स इनफ्रस्ट्रक्चर होगा।