संघीय गठबंधन ने नेपाल सरकार का प्रस्ताव फिर ठुकराया

नई दिल्ली (14 जून): मधेस और जनजातिय पार्टियों को मिलाकर बने संघीय गठबंधन ने नेपाल सरकार के वार्ता प्रस्ताव को एक बार फिर ठुकरा दिया है। आंदोलनरत संघीय गंठबंधन के नेताओँ का कहना है कि ओली सरकार समस्याओंं को हल करने के बजाए झूठी पब्लिसिटी करने पर उतारू है। ओली सरकार संघीय गठबंधन में दरार भी डालना चाहती है।

गठबंधन के नेता ह्रदयेश त्रिपाठी ने कहा कि अगर सरकार वार्ता की इच्छुक है तो वार्ता से पहले बतायी गयी तीन शर्तो को पूरा करे। संघीय गठबंधन ने इससे पूर्व आंदोलन के दौरान सुरक्षाबलों की गोली से मारे गये आंदोलनकारियों को शहीदों का दर्जा देने और घायलों को क्षतिपूर्ति और निशुल्क उपचार देने और आंदोलनकारियों पर दर्ज मुकदमे वापस लेने की मांग की है। इसके अलावा संघीय समाजवादी फोरम के वरिष्ठ नेता अशोक राय ने कहा कि अगर सरकार वार्ता करना चाहती है तो उसे संघीय गठबंधन के सभी दलों को आमंत्रित करना चाहिए।