भय, भूख और भ्रष्टाचार ने ले ली जान

राहुल, मऊ (31 अगस्त): पांच साल पहले कटी बिजली का बिल 99 हजार 366 रूपए आने के बाद डर के मारे खाना-पीना छोड़ अपने को घर में बंद करने से एक व्यक्त‍ि की भूख से मौत हो गई। वैसे ही जब इस मौत के बारे में एसडीएम से बात की गई तो उन्होंने इस बात को ख़ारिज कर दिया कि कोई बिजली का बिल देख कर मरेगा? ज्यादा बिल था तो उसे जनता दरबार में आना चाहिए था, यहां पर अपनी शिकायत करता।

दरअसल मऊ जिले के अमिला के रहने वाले सुभाष गुप्ता का पांच साल पहले बिजली का बिल ना दे पाने के कारण कनेक्शन काट दिया गया था और अब लगभग दस दिनों पहले बिजली के बकाएदारों की तरह अधिकारी व लाइन मैन 99 हजार 366 रूपये का बिल लेकर उनके घर पर आ धमके। इसे देखकर सुभाष के होश उड़ गए।

विभाग के लोग उनपर बिल जमा करने के लिए दबाव बनान रहे थे। जिसके भय घबराकर उसने अपने आप को घर में बंद कर लिया, जब कई दिनों से पड़ोसियों को कुछ शक हुआ तो इकट्ठा हुए और पीछे के रास्ते उनके मकान में कूद कर गए। वहां पति के शव के पास बैठी पत्नी को देखकर लोग सन्न रह गए। लोगों ने अंदर से लाक खोलकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।