होली की बधाई देने पर नवाज शरीफ के खिलाफ जारी हुआ फतवा

नई दिल्ली ( 22 मार्च ): पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने हिंदूओं के त्योहार होली में एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। उस कार्यक्रम में कथित तौर पर इस्लाम के खिलाफ बोलने की वजह से पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के खिलाफ ईशनिंदा के आरोप में एक कुफ्र फतवा जारी किया गया है। इस फतवे को एक मौलवी ने जारी किया है। होली के मौके पर नवाज शरीफ के द्वारा दिए भाषण को एतिहासिक माना गया। नवाज ने अपने भाषण में समग्रता, सहिष्णुता, धार्मिक सद्भाव और शांति से मिल-जुलकर रहने की वकालत की थी।


इस समारोह में गायत्री महामंत्र का भी पाठ किया गया था। इस मौके पर नवाज ने वहां मौजूद हिंदुओं को होली की शुभकामना देते हुए काफी दोस्ताना भाषण दिया था। हिंदू समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुए नवाज ने कहा था, 'दो साल पहले मैं आपका हो गया था और आप मेरे हो गए थे। आज हमारा यह रिश्ता और ज्यादा मजबूत हो गया है।'


पाकिस्तानी अखबार डेली पाकिस्तान ग्लोबल में प्रकाशित खबर के मुताबिक अल्लामा अशरफ जलाली मे कहा कि नवाज शरीफ ने इस्लाम के खिलाफ ईशनिंदा करने के साथ साथ पाकिस्तान की स्थापना के बुनियादी सिद्धांतों का भी अपमान किया है। आपको बता दें कि जलाली पाकिस्तान अहले सुन्नाह वा-जानाह के नेता और साथ ही सुन्नी एत्तेहाद काउंसिल के सचिव हैं।


आपको बता दें कि नवाज शरीफ ने होली के दिन एक भाषण में कहा था कि 'कोई भी इंसान किसी और शख्स को एक खास धर्म अपनाने के लिए बाध्य नहीं कर सकता है।'