सऊदी अरब में वाई-फाई चोरी करने पर हो सकती है ऐसी सजा

ऩई दिल्ली (12 अप्रैल): सऊदी अरब के  धार्मिक विभाग ने वाईफाई चोरी के खिलाफ फतवा जारी किया है। इसमें कहा गया है कि पड़ोसी के यहां से वाईफाई कनेक्टिविटी चुराना इस्लामिक आचरण के खिलाफ है। ऐसा करने वाले के खिलाफ वही सलूक हो सकता है जो चोरों के साथ होता है। इस्लामिक अफेयर्स एंड चैरिटेबल एक्टिविटीज डिपार्टमेंट ने ये फतवा अपनी वेबसाइट पर जारी किया है। बताया जा रहा है कि यह किसी गुमनाम शख्स के सवाल के जवाब में जारी किया गया है।

फतवे के मुताबिक अगर आपके पड़ोसी ने इजाजत दे रखी है तो उसकी लाइन इस्तेमाल करने में कोई बुराई नहीं है लेकिन बिना इजाजत पड़ोसी का वाईफाई इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।  ये विभाग तमाम तरह के सवालों के जवाब देता है। इनमें नमाज,धार्मिक सवालों से लेकर कॉस्टेमैटिक सर्जरी और गैर कानूनी तरीके से मूवी डाउनलोड करने जैसे विषय भी शामिल होते हैं। ये फतवा पिछले कुछ सालों में अन्य धार्मिक नेताओं की ओर से जारी फरमानों से मिलता जुलता है।