यमन में अगवा भारतीय पादरी टॉम उजुनालिल को ISIS के चंगुल से छुड़ाया गया

नई दिल्ली ( 12 सितंबर ): भारतीय पादरी फादर टॉम उजुनालिल को यमन में खूंखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट द्वारा बंधक बनाए गए पादरी टॉम उजुनालिल को बचा लिया गया है। ओमान सरकार की मदद से उन्हें छुड़ाए जाने की खबर है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी ट्वीट कर फादर टॉम को छुड़ाए जाने की पुष्टि की है। सुषमा स्वराज ने लिखा, 'मुझे यह बताते हुए खुशी है कि फादर टॉम उजुनालिल को छुड़ा लिया गया है।'

मार्च 2016 में इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों ने दक्षिणी यमन शहर एडेन मे मदर टेरेसा के मिशनरी ऑफ चैरिटी पर हमला कर भारतीय पादरी का अपहरण कर लिया था, जिन्हें यमन विदेश मंत्रालय से हस्तक्षेप के बाद वहां से सुरक्षित बचा लिया गया है।

यमन में पिछले कई सालों से पूर्व राष्ट्रपति अली अब्दुल्ला सालेह के समर्थकों और अब्द्राब्बुह मंसुर हादी के विद्रोहियों के बीच संघर्ष चल रहा है। 

भारतीय पादरी को अपहरणकर्ताओं से ओमान के सुल्तान कबूस बिन सईद अल सईद की मदद से उन्हें बचाया जा सका। फादर उजुनालिल को सुरक्षित निकाले जाने के बाद उन्हें यमन की राजधानी मस्कट लाया गया। सरकार आज फादर उजुनालिल को केरल लाएगी। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर कहा कि मुझे खुशी है कि फादर टॉम उजुनालिल को यमन से सुरक्षित बचाया लिया गया है।