पहले कालाहांडी, फिर भुवनेश्नर...अब छतरपुर... यह खबर पढ़कर रो पड़ेंगे...

 

छतरपुर (29 अगस्त): पहले उडीसा काकालाहांडी फिर भुवनेश्वर, अब मध्य प्रदेश के छतरपुर से दिल दलहा देनेवाली खबर सामने आई है। यहां एक पिता अपनी गर्भवती बेटी को साइकिल पर बैठाकर अस्पताल तक ले गया। 

पीड़िता के पिता का कहना है कि बेटी को अस्पताल ले जाने के लिए जननी एक्सप्रेस से संपर्क किया था। लेकिन लोगों ने उन्हें बताया कि उसके मोहल्ले में यह सेवा मुहैया नहीं है।

जानकारी के मुताबिक, पाली में रहने वाले महेश की पत्नी पार्वती (26) अपने मायके ग्राम शहपुरा आई थी। अचानक प्रसव वेदना बढ़ने पर उसके पिता नन्हेभाई तनय हीरालाल आदिवासी ने जननी एक्सप्रेस संचालक को फोन लगाया। तभी उसे बताया गया कि एक माह से जननी एक्सप्रेस सेवा बंद कर दी गई है। 

तडपती बेटी को देख पिता ने साइकिल पर उसे बैठाया और छह किलोमीटर दूर अस्पताल तक ले गए। अस्पताल पहुंचने के बाद पार्वती ने अपने पहले बेटे को जन्म दिया। 

बता दे कि इससे पहले घुवारा में भी एक गर्भवती महिला को करीब आठ किलोमीटर पैदल चलकर और नाला पारकर अस्पताल पहुंचना पड़ा था।