AFSPA पर फारुक ने कहा, हटाने पर सुरक्षाबल करेंगे फैसला

श्रीनगर(11 मार्च): जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कान्फ्रेंस के अध्यक्ष फारुक अब्दुल्ला ने जम्मू कश्मीर के शांति वाले और आतंकवाद रहित क्षेत्रों में अफ्सपा के जारी रहने पर सवाल उठाया है और कहा कि सुरक्षाबलों को इसे देखना चाहिए। फारुक ने एक सवाल के जवाब में कहा कि इसको हटाने का फैसला मैं नहीं ले सकता, यह सुरक्षाबलों द्वारा किया जाना है।

उन्होंने हालांकि कहा कि इसे उन स्थानों से हटा लिया जाना चाहिए जहां इसकी जरूरत नहीं है और उन स्थानों से जहां आतंकवाद नहीं है। जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार की सुरक्षाबलों के संबंध में की गई टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि इस तरह के बयान ऐसे समय सशस्त्र बलों की छवि खराब कर रहे हैं जब युवा अधिकारी मातृभमि के लिए अपना बलिदान दे रहे हैं।

कन्हैया ने कहा था कि सुरक्षाबल कश्मीर घाटी में मानवाधिकार उल्लंघन में शामिल हैंफारुक ने कहा कि मैं प्रशासन से अपील करता हूं कि वह उधमपुर रेलवे स्टेशन का नाम सेना के उस युवा कैप्टन के नाम पर रखे जिसने राष्ट्र के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया।