फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किसानों के बीच भ्रम फैला रहा है विपक्ष: पीएम मोदी

नई दिल्ली ( 18 मार्च ): केंद्र सरकार के किसानों को दिए जाने वाले न्यूनतम समर्थन मूल्य पर विपक्ष की आलोचनाओं पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जवाब दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि किसानों की फसलों पर एमएसपी के मामले में भ्रम फैलाया जा रहा है और लोग निराशा का माहौल बना रहे हैं। उन्होंने किसानों को भरोसा दिया कि समर्थन मूल्य की घोषणा करते समय सभी प्रमुख लागतों को इसमें शामिल किया जायेगा। प्रधानमंत्री शनिवार को दिल्ली के भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान( आईएआरआई) मेला ग्राउंड में लोगों को संबोधित कर रहे थे

पीएम मोदी ने कहा कि 'लोग' किसानों के बीच भ्रम फैला रहे हैं। मोदी ने किसानों को यह भी आश्वासन दिया कि सरकार समर्थन मूल्य में बजट में किए गए सभी वादों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है।

किसानों और कृषि वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'लागत का डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य देने का सरकार का निर्णय कड़ी मेहनत करने वाले किसानों की आय बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण है। हम राज्य सरकारों के साथ इस मुद्दे पर बातचीत कर रहे हैं कि किसानों ज्यादा से ज्यादा लाभ पहुंचाया जा सके।' 

मोदी ने कहा कि कृषि की लागत में मजदूरी, मशीन पर खर्चा, पालतू पशुओं पर होने वाला खर्च, बीज की लागत, खाद, सिंचाई पर खर्च, राज्य सरकार को दिया जाने वाला राजस्व जैसे जरूरी खर्चे भी शामिल होते हैं। कृषि लागत के कैलकुलेशन फॉर्म्युला पर बात करते हुए उन्होंने कहा, 'कृषि लागत में किसान और उनके परिवार द्वारा की गई मजदूरी को भी शामिल किया जाएगा।'