उपवास पर बैठे शिवराज, बोले- दशहरा मैदान से ही चलाई जाएगी सरकार

भोपाल (10 जू)न: किसान आंदोलन के कारण मध्यप्रदेश में बिगड़े हालात के बाद मुख्यमंत्री शिवराज चौहान दशहरा मैदान पर उपवास पर बैठ गए हैं। यहां पर शिवराज लोगों से सीधे मुलाकात करेंगे। उपवास में सीएम के साथ पत्नी साधना सिंह, वरिष्ठ बीजेपी नेता बाबूलाल गौर, प्रभात झा समेत मंत्रिमंडल के कई सदस्य हैं।


उपवास पर बैठने के बाद शिवराज ने कहा कि उनकी सरकार राज्य के किसानों की हमदर्द है। उन्होंने कहा, 'कुछ लोगों ने माहौल बिगाड़ने की कोशिश की। हमारे एमपी में आग मत लगाओ। बच्चों के हाथों में पत्थर थमा दिए गए। आंदोलन तभी जायज जब सरकार बात नहीं करे। हम तो बात करने के लिए तैयार हैं।'


उन्होंने कहा, 'किसानों को लाभकारी मूल्य देना मध्य प्रदेश की धरती पर सुनिश्चित कर दिया जाएगा। किसान और 

उपभोक्ता के बीच बिचौलिए को खत्म कर दिया जाएगा। सरकार केंद्र सरकार के समर्थन मूल्य पर फसल की खरीद करेगी। हमारी सरकार का लक्ष्य प्रदेश और जनता का विकास है। हमारी सरकार के दौरान राज्य की 40 लाख एकड़ जमीन में सिंचाई की सुविधा पहुंचाई गई।'


- जब-जब किसानों पर संकट की घड़ी आई मैं उनके बीच गया।

- हमने किसानों को बिजली दी। किसानों से प्याज खरीदा।

- इस बार राज्य में फसलों की बंपर पैदावार हुई है। जब-जब पैदावार ज्यादा होती तो फसलों की कीमतें गिरती हैं।

- इस बार भी गेहूं, धान, सोयाबीन, आलू, प्याज की बंपर पैदावार हुई है। अन्न के भंडार भर गए हैं।

- हमने फैसला किया है कि प्याज उत्पादन करने वाले किसानों से प्याज 8 रुपये प्रति किलो खरीदा जाएगा।

- 10 जून से तुअर (अरहर) की खरीद 4,000 रुपये प्रति क्विंटल की दर से किया जाएगा।

- मूंग, उड़द की भी सरकारी खरीद की जाएगी। राज्य सरकार किसानों के पसीने को बेकार नहीं जाने देगी।