MP: 8 दिन में 11 किसानों ने की खुदकुशी, 3 सीएम शिवराज के गृह ज़िले में


भोपाल(16 जून): मध्यप्रदेश में पिछले 24 घंटों में कर्ज से परेशान दो और किसानों ने कथित रूप से आत्महत्या कर ली, जिससे मध्यप्रदेश में पिछले आठ दिनों में आत्महत्या करने वाले किसानों की संख्या बढक़र 11 हो गई है। होशंगाबाद जिला और शिवपुरी जिला के इन दोनों किसानों ने आत्महत्या की। अकेले सीएम शिवराज सिंह चौहान के गृह जिले सीहोर में 8 किसानों ने आत्महत्या की।


- होशंगाबाद कोतवाली पुलिस थाना प्रभारी महेन्द्र सिंह चौहान ने बताया कि होशंगाबाद जिले के चपलासर गांव के किसान नर्मदा प्रसाद यादव (50) ने कर्ज से परेशान होकर कल कीटनाशक पी लिया। उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।


- उन्होंने बताया कि मृतक के परिजन का कहना है कि उन्होंने बबई कस्बे से साहूकार से रिण लिया था जिसे वह चुका नहीं पा रहे थे। इसके अलावा, इस साल अच्छी फसल नहीं होने से भी वह निराश थे। चौहान ने बताया कि इस संदर्भ में मामला दर्ज किया गया है।


- इसके अलावा, शिवपुरी जिले में कल शाम विनेका गांव में किसान कल्ला केवट (55) ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बदरवास के अनुविभागीय अधिकारी पुलिस सुजीत भदौरिया ने कहा कि केवट के परिजन ने बताया कि उसने विभिन्न लोगों से 80,000 रुपये का कर्ज लिया था, लेकिन पिछले तीन साल से अच्छी फसल न होने से वह इसे चुका नहीं पा रहा था। हालांकि, केवट पर किसी भी बैंक का कर्ज नहीं था।


- भदौरिया ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। मंदसौर जिले में 6 मई को किसान आंदोलन के दौरान पुलिस गोलीबारी में पांच किसानों के मारे जाने के बाद प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के हित में कई घोषणाएं करने के बावजूद भी इन नौ किसानों ने खुदकुशी की। इससे पहले आठ जून से लेकर कल सुबह तक सात अन्य किसानों ने भी मध्यप्रदेश के विभिन्न भागों में कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या की है।