952 किलो प्याज की कीमत मिली सिर्फ एक रुपया

रोहित वालके, विनोद जगदाले, मुंबई (24 मई): प्याज की कीमतों को लेकर आपने कई बार महंगाई के आंसू बहाए होंगे। इस वक्त भी आपको बाजार में जिस दाम पर प्याज मिल रही है। उससे कहीं सस्ती प्याज किसान बेचने के लिए मजबूर है। लेकिन फिर भी ना आपको उतनी सस्ती प्याज मिल रही है। ना किसान को उसकी मेहनत का पैसा।

महाराष्ट्र के पुणे में प्याज की थोक मंडी में 952 किलो प्याज बेचने पर किसान के हाथ में सिर्फ एक रुपया आया है। इस किसान ने 952 किलो प्याज एक रुपए 60 पैसे प्रति किलो की दर से बेची थी। जिसका मतलब है कि 952 किलो प्याज की बाजार में कुल कीमत हुई 1523 रुपए 20 पैसे।

किसान को मंडी में आढ़त के नाम पर 91 रुपए 35 पैसे देने पड़े। प्याज की बोरी उठाने वाले मजदूर को 59 रुपये देने पड़े। बोरे में प्याज भराई के लिए 18 रुपये 55 पैसे। प्याज का वजन नापने के लिए 33 रूपये 30 पैसे। प्याज के ट्रांसपोर्टेशन का किराया रुपये 1330 अदा करने के बाद किसान के हाथ में महक 1 रुपया बचा।

यानी देश का किसान 952 किलो प्याज बेचकर सिर्फ एक रुपए कमाता है और मार्केट में हमको आपको बीस से तीस रुपए किलो में प्याज खरीदनी पड़ती है। अब सोचिए आप कि बाकी का पैसा कौन खा जा रहा है? इसीलिए अब सरकार को उन्हीं के साथी घेरने लगे हैं। शिवसेना नेता संजय राउत ने सवाल उठाया है कि प्रधानमंत्री के मन की बात किसानों तक नहीं पहुंच रही है। सरकार चाहे राज्यों की हो या केंद्र की। सब किसानों के लिए चुनावों में बड़े-बड़े दावे करते हैं। लेकिन पुणे में एक किसान को कैसे 952 रुपए किलो प्याज के बदले सिर्फ एक रुपए मिलता है तो क्यों ना महाराष्ट्र का किसान खुदकुशी के लिए मजबूर होगा।

वीडियो: [embed]https://www.youtube.com/watch?v=HZtnK2g2Hxg[/embed]