पाक जासूसी कांड में गिरफ्तार 'गद्दार' फरहत, 4 सांसदों का रह चुका है पीए

दिल्ली (29 अक्टूबर): पाकिस्तान जासूसी कांड में दिल्ली क्राइम ब्रांच ने समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सांसद मुनव्वर सलीम के पीए फरहत को गिरफ्तार किया है। फरहत पर आरोप है कि उसने देश के साथ गद्दारी है और चंद पैसे की लालच में देश से जुड़ी अहम और संवेदनशील जानकारी दुश्मन देश पाकिस्तान तक पहुंचाई। फरहत के बारे में चौकाने वाले खुलासे हुए हैं। फरहत 20 साल से राजनीति में है और अबतक 4 सांसदों को पीए भी रह चुका है। फिलहाल फरहत समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सांसद मुनव्वर सलीम का पीए है।  फरहत पर आरोप है कि उसने पाकिस्तानी जासूस महमूद अख्तर को विदेश मंत्रालय, रक्षा और नागरिक उड्डयन मंत्रालय से जुड़े अहम दस्तावेज दिए। महमूद अख्तर से पूछताछ के बाद समाजवादी पार्टी के सांसद चौधरी मुनव्वर सलीम के पीए फरहद को गिरफ्तार कर लिया गया है। मुनव्वर सलीम के पीए फरहद पर विदेश मंत्रालय, रक्षा और नागरिक उड्डयन मंत्रालय से जुड़े दस्तावेज महमूद अख्तर को देने का आरोप है। इसके लिए पीए को 2 लाख रुपए भी दिए गए थे। पूछताछ में पाक उच्चायोग के अधिकारी महमूद अख्तर ने बताया है कि फरहत बीते ढाई साल से उसे ये दस्तावेज सौंप रहा था। सूत्रों के मुताबिक महमूद अख्तर ने फरहत को इसके लिए 2 लाख रुपए इंस्टॉलमेंट्स में दिए थे। महमूद अख्तर से फरहत का परिचय उसके पूर्व सांसद के पीए रहे फियाज ने कराया था। दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम ने पाकिस्तान दूतावास के वीजा ऑफिसर महमूद अख्तर को बुधवार को गिरफ्तार किया गया था, हालांकि डिप्लोमैटिक इम्यूनिटी की वजह से उसे पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया और पाकिस्तान लौटने को कह दिया गया था। 

कौन है फरहत ? एसपी राज्यसभा सांसद मुनव्वर सलीम का पीए है फरहत पिछले 20 साल से राजनीति में है फरहत 1986 में राजनीति में आया था फरहत  अबतक 4 सांसदों का पीए रह चुका है इनमें से कई सांसद पार्लियामेंट्री कमेटी के रह चुके हैं तकरीबन 20 साल से पाक खुफिया एजेंसी ISI की संपर्क में है फरहत  विदेश मंत्रालय, रक्षा और नागरिक उड्डयन मंत्रालय से जुड़े दस्तावेज देने का आरोप  संसद से संबधित संवेदनशील जानकारी ISI को मुहैया कराने का भी है आरोप दस्तावेज के हिसाब से ISI फरहत को 10 हजार से लेकर एक लाख रुपये तक देता था