मशहूर शायर निदा फ़ाज़ली का निधन

मुंबई (8 फरवरी): उर्दू के मशहूर शायर और फिल्म गीतकार निदा फाजली का आज सुबह अंधेरी स्थित आवास में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। वे 78 साल के थे। उनका जन्म 12 अक्टूबर 1938 को दिल्ली में हुआ था।

फाजली का असल नाम मुक्तदा हसन निजा फाजली था। उनका बचपन और युवावस्था ग्वालियर में गुजरी। यहीं पर उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई पूरी की और 1957 में ग्वालियर कॉलेज से ग्रेजुएट हुए। फाजली ने छोटी उम्र से ही लिखना शुरू कर दिया था।

निदा फाजली इनका लेखन का नाम था। निदा का अर्थ है, आवाज जबकि फाजली कश्मीर का वो इलाका, जहां से आकर इनके पुरखे दिल्ली में बस गए थे।बताया जा ता है कि निदा फाजली ने सूरदास की कविता से प्रभावित होकर शायर बनने का फैसला किया था। यह बात उस समय की है, जब उनका पूरा परिवार बंटवारे के बाद भारत से पाकिस्तान चला गया था, लेकिन निदा फाजली ने हिन्दुस्तान में ही रहने का फैसला किया। 

उन्होंने बॉलीवुड की फिल्मों के लिए तमाम गानें लिखें..इनमें से यह गीत तो लोगों की जुबां पर आज तक चढ़ा हुआ है...

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=k82SZZaWgtU[/embed]