' पैसों के लिए रिश्तों को किया लांछित... इस हद तक गिर गयी ये लड़की'

नई दिल्ली (24 नवंबर): इंदौर-पटना रेल हादसे के बाद अब एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। एक लड़की कानपुर पोस्‍टमॉर्टम हाउस पहुंची। उसका कहना था, ''मेरा भाई हादसे में मारा गया। मैं उसका शव लेने आई हूं।'' लड़की की जब शिनाख्‍त की गई तो अफसरों के होश उड़ गए। वो सिर्फ पैसों के लिए मृतक की फर्जी बहन बनी थी। पुलिस ने लड़की को जेल भेज दिया है।

- कानपुर के पास पुखरायां में 20 नवंबर को हुए रेल हादसे में 150 से ज्‍यादा लोगों की मौत हो गई, जबकि सैकड़ों लोग घायल हुए थे।

- हादसे के बाद अपनों के शव लेने के लिए अकबरपुर (कानपुर देहात) पोस्‍टमॉर्टम हाउस में लोगों की भीड़ इकट्ठा हुई।

- 21 नवंबर को यहां एक लड़की आई, जिसने अपना नाम प्रीति बताया।

- उसका कहना था, वाराणसी का रहने वाला 26 साल का रिशू मेरा भाई था, जिसकी रेल हादसे में मौत हो गई है।

- मैं उसकी डेड बॉडी लेने आई हूं। मुझे जल्‍दी से भाई की बॉडी दे दो।

- करीब 36 घंटे तक वो पोस्‍टमॉर्टम हाउस के बाहर खड़ी रही। उसके पास रिशू का कोई आईडी प्रूफ भी नहीं था।

- पुलिस प्रीति को रिशू का शव सौंपने वाली ही थी कि तभी बनारस से मृतक रिशु के पिता और भाई भी कानपुर देहात पहुंच गये।

- उन्होंने रिशू के अपने पारिवारिक सदस्य होने के सुबूत पुलिस को दिखाये। 

- पुलिस ने रिशू का शव उसके परिजनों को सौंपा और प्रीति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

-