तोप में लगा दिये नकली चाईनीज पुर्जे, सीबीआई ने दर्ज की एफआईआर

नई दिल्ली (22 जुलाई): सेना के इस्तेमाल के मकसद से बन रही स्वदेशी बोफोर्स तोपों के लिए चीन में बने कल-पुर्जों की आपूर्ति ‘मेड इन जर्मनी’ बताकर कर दी गई। सीबीआई ने इस मामले में दिल्ली स्थित कंपनी सिद्ध सेल्स सिंडीकेट’ के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। ‘सिद्ध सेल्स सिंडीकेट’ के अलावा सीबीआई ने धनुष तोपों के लिए चीन में बने नकली कल-पुर्जे की बतौर ‘मेड इन जर्मनी’ आपूर्ति किए जाने को लेकर ‘गन्स कैरिज फैक्टरी’ (जीसीएफ)- जबलपुर के अज्ञात अधिकारियों के खिलाफ आपराधिक साजिश, धोखाधड़ी और जालसाजी का मामला दर्ज किया है।

धनुष बोफोर्स तोप का स्वदेशी संस्करण है। बोफोर्स तोपों ने 1999 के कारगिल के युद्ध में शानदार प्रदर्शन किया था। सीबीआई ने आरोप लगाया कि आपूर्तिकर्ता ने धनुष तोपों के विनिर्माण में इस्तेमाल के लिए नकली कल-पुर्जे की आपूर्ति को लेकर अज्ञात जीसीएफ अधिकारियों के साथ आपराधिक साजिश रची। जांच एजेंसी ने प्राथमिकी में कहा, ‘‘जीसीएफ के अज्ञात अधिकारियों ने चीन में बने ‘वायर रेस रोलर बियरिंग्स’ को स्वीकार कर लिया। इसकी आपूर्ति सिद्ध सेल्स सिंडिकेट की ओर से ‘सीआरबी-मेड इन जर्मनी’ के तौर पर की गई थी।’’