नागालैण्ड से जारी हो रहे हैं हथियारों के फर्जी लाइसेंस !

नई दिल्ली (24 अक्टूबर): राजस्थान पुलिस ने नागालैंड से फर्जी हथियारों के लाइसेंस जारी होने के मामले का पर्दाफाश किया है। गिरोह के सरगना सहित तीन लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है। प्रारंभिक पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि पिछले दो साल में उन्होंने नागालैंड के विभिन्न स्थानों से हथियारों के 500 लाइसेंस बनवाए। गिरोह का मुख्य सरगना मूलरूप से चूरू जिले का रहने वाला भंवर लाल ओझा है। वह पिछले 40 साल से नागालैंड में व्यापार कर रहा है।

नागालैंड के दीमापुर में व्यापार के सिलसिले में कलेक्ट्रेट में आने-जाने के दौरान वहां के कर्मचारियों संजय पांडे, गोखिय, मोहम्मद सिराज व उत्तम से उसकी दोस्ती हो गई। ओझा ने उन्हें 60 से 70 हजार रुपये देकर हथियारों का फर्जी लाइसेंस बनवाने का काम शुरू किया। उदयपुर पुलिस अधीक्षक राजेंद्र गोयल ने बताया कि जांच में सामने आया है कि नागालैंड के जुन्हेबोटो कलेक्ट्रेट के एक क्लर्क ने डिप्टी कमिश्नर के हस्ताक्षर कर लोगों के फर्जी हथियार लाइसेंस बनवा दिए।