फडणवीस ने ठुकराई कर्मचारियों की मांग, कैश देने से किया इनकार

मुंबई (30 नवंबर): नोटबंदी के बाद देशभर में कैश की भारी किल्लत है। नोटबंदी का ऐलान हुए 3 हफ्ते से ज्यादा समय हो गए, लेकिन हालात अब भी कमोवेश जस के तस हैं। घंटों बैंक, एटीएम और पोस्ट ऑफिस के बाहर खड़े रहने को मजबूर लोगों को कैश नहीं मिल पा रहा है। इन सबके बीच नोटबंदी के बाद पहली सैलरी आ रही है। 


इस कैश क्राइसिस को देखते हुए महाराष्ट्र के सरकारी कर्मचारियों ने फडणवीस सरकार से इस महीने अपनी तनख्वाह कैश में मांगी है। महाराष्ट्र के 14 लाख कर्मचारियों ने कैश में वेतन की मांग करते हुए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को एक प्रस्ताव दिया है। इस प्रस्ताव के मुताबिक जिन सरकारी कर्मचारियों की तनख्वाह 50 हज़ार प्रति महीने से कम है उन्होंने इस बात कैश में वेतन दिया जाए। लेकिन महाराष्ट्र सरकार ने कमर्चारियों की इस मांग को खारिज कर दिया है। सरकार ने साफ किया है कि कर्मचारियों को वेतन बैंक अकाउंट में ही डाले जाएंगे।