फैक्ट्री मालिक ने बनाया बंधुआ मजदूर, गुलामों की तरह जंजीरों से बांधा

नई दिल्ली (16 जनवरी): उधारी की रकम समय पर न चुका पाने का खामियाजा एक शख्स को बंधुआ मजदूर बन कर चुकाना पड़ा। जी हां, यह घटना एकदम सच है। इस बंधुआ मजदूर को गारमेंट फैक्ट्री का मालिक जंजीर से बांधकर रखता था और उससे चौबीस घण्टे काम करवाता था। दिल को दहलादेने वाली यह घटना पाकिस्तान के सियालकोट के चिट्टी शैख़ान की है। सदाकत अली नाम का एक शख्स जुल्फिकार बट और सरफराज बट नाम के दो भाइयों की गारमेंट फैक्ट्री में काम करता था। उसने 2 लाख रुपये उधार लिये थे। मजदूर आदमी समय पर पैसे वापस न कर पाया। इसी बात का फायदा उठाकर  जुल्फिकार बट और सरफराज बट ने सदाकत को बंधक बना लिया। उसके पैरों में जंजीर डाल दी। और कहा कि जब तक पूरे पैसे चुकता नहीं हो जाते तब तक इसी तरह काम करना पड़ेगा। सदाकत के पिता रियासत को जब इस बात का पता चला तो उसने पुलिस को इसकी इत्तला दी। पुलिस ने जाकर बंधुआ मजदूर को मुक्त करवाया और बट बंधुओँ में एक को गिरफ्तार भी कर लिया।