बजट 2018: पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में कटौती, फिर भी आपको फायदा नहीं

नई दिल्ली(2 फरवरी): केंद्र की मोदी सरकार ने संसद में आम बजट पेश किया। मिडिल क्लास को उम्मीद थी कि सरकार आखिरी पूर्ण बजट में पेट्रोल और डीजल से टैक्स कम करके राहत दे सकती है। सरकार ने टैक्स में बड़ी कौटती भी की, लेकिन इसका फायदा उपभोक्ताओं को नहीं मिलेगा।

- वित्त मंत्री ने बताया कि बेसिक एक्साइज ड्यूटी में 2 रुपये प्रति लीटर कटौती की गई है। इसके अलावा अडिशनल एक्साइज ड्यूटी में भी 6 रुपये की कमी की गई है, लेकिन इसके स्थान पर 8 रुपये प्रति लीटर के रोड सेस की शुरुआत की गई।

- गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर क्रूड ऑइल के महंगा होने से पेट्रोल-डीजल के दामों में भारी वृद्धि हो चुकी है। 2014 में बीजेपी की सरकार बनने के बाद पेट्रोल का दाम सबसे अधिक हो गया है। दिल्ली में आज पेट्रोल का दाम आज 72.92 रुपये प्रति लीटर है। डीजल 64 रुपये लीटर बिक रहा है।

- बीजेपी की अगुआई वाली एनडीए सरकार ने नवंबर 2014 से जनवरी 2016 के बीच 9 बार एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई थी। सरकार ने क्रूड में आई तेज गिरावट का फायदा उठाते हुए अपना खजाना भरने के लिए यह कदम उठाया था। सरकार ने पिछले साल सिर्फ एक बार अक्टूबर में एक्साइज ड्यूटी में 2 रुपये प्रति लीटर की कटौती की थी।