महागठबंधन में विवाद: शिवानंद तिवारी ने कहा- दूध के धुले नहीं हैं नीतीश

नई दिल्ली (26 जुलाई): बिहार की राजधानी पटना में एक बार फिर सियासी पारा चढ़ा हुआ है। सभी दलों ने अपने-अपने विधायकों की बैठक अलग से बुलायी है। 28 जुलाई यानी गुरुवार से बिहार विधानमंडल का मानसून सत्र शुरू होने जा रहा है। इस बीच राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के करीबी और पूर्व राज्यसभा सांसद शिवानंद तिवारी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा, नीतीश का भ्रष्टाचार पर जीरो टोलरेंस ढोंग है। नीतीश क्या दूध के धुले हैं? अगर भेद खुला तो गड़े मुर्दे उखड़ेंगे।

शिवानंद ने कहा, 'नीतीश बोल रहे हैं कि लोगों के बीच बताएं। उनके प्रवक्ता बोल रहे हैं कि सभी सवालों का जवाब दें। नीतीश का कोर्ट है क्या? क्या सीबीआई ने उनको आउटसोर्स किया है।'

उन्होंने कहा, हम चाहते हैं कि नीतीश देश के गठबंधन का नेतृत्व करें, लेकिन उनके नेता डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव से जिस तरह जवाब की मांग कर रहे हैं वो 27 अगस्त (राजद की रैली) को दिया जाएगा। तिवारी ने साफ कहा कि जीरो टोलरेंस (नीतीश कुमार) की बात न करें नहीं तो उनकी पोल खुल जाएगी।

बिहार में महागठबंधन में उठे सियासी तूफान के बीच शिवानंद तिवारी का यह बयान काफी अहम है। इससे पहले भी उन्होंने फेसबुक पोस्ट के जरिए नीतीश कुमार पर हमला किया था।