रमजान, अमरनाथ यात्रा को लेकर महबूबा मुफ्ती ने संघर्ष विराम की मांग की

नई दिल्ली (09 मई): जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई। इस बैठक में विभिन्न दलों के साथ ही पीडीपी और भाजपा के कई नेता शामिल हुए। बैठक के बाद रियासत की सीएम महबूबा मुफ्ती ने कहा सभी दल इस बात पर सहमत हैं कि राज्य में अगर पीडीपी और बीजेपी की गठबंधन वाली सरकार के एजेंडे का पालन किया जाता है तो कश्मीर में हालात सुधर सकते हैं।  

सीएम मुफ्ती ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, 'बैठक में शामिल सभी दल इस बात से सहमत थे कि केंद्र सरकार आंतकियों के खिलाफ एकतरफा संघर्षविराम का ऐलान करे, जैसा कि वाजपेयी जी ने 2000 में किया था। आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई से आम लोगों को भी खासी समस्याएं पेश आ रही है।' उन्होंने कहा कि ईद और अमरनाथ यात्रा को देखते हुए हमारी कोशिश शांतिपूर्ण हालात बनाए रखने की है।

बता दें कि इससे पहले 7 मई को भी मुफ्ती ने केंद्र सरकार से घाटी में जारी हिंसा रोकने के लिए बीच का रास्ता खोजने की अपील की थी। उन्होंने कहा था कि कश्मीर में हिंसा से गरीब युवकों और सुरक्षा बलों का जीवन खत्म कर रही है। उधर, पथराव से पर्यटक की मौत के बाद प्रदेश की सुरक्षा और अन्य गंभीर मुद्दों को लेकर सीएम ने मंगलवार को राज्यपाल एनएन वोहरा से भी मुलाकात की। इस दौरान दोनों ने राज्य में आतंकवाद निरोधक अभियानों , पथराव की घटनाओं , पर्यटक की मौत से जुड़े विभिन्न महत्वपूर्ण मसलों पर चर्चा की।