EPFO का दावा, जनवरी में 9 लाख लोगों को मिला रोजगार

न्यूज 24, नई दिल्ली (25 मार्च): EPFO आंकड़ों के मुताबिक जनवरी के महीने में संगठित क्षेत्र में शुद्ध रूप से कुल 8.96 लाख लोगों को रोजगार मिले है। यह 17 महीने का उच्च स्तर है। वहीं कुल 17 महीनों में करीब 76 लाख लोगों को रोजगार मिला है। EPFO के कंपनियों में कर्मचारियों की संख्या और उन्हें दिये जाने वाले वेतन के आंकड़े से यह जानकारी मिली है। EPFO आंकड़ों के मुताबिक इस साल जनवरी के दौरान 2.44 लाख रोजगार 22 से 25 साल के आयु वर्ग में सृजित हुए, उसके बाद 18 से 21 साल के आयु वर्ग में 2.24 लाख रोजगार सृजित हुए।जनवरी में जो नये रोजगार सृजित हुए वह एक साल पहले इसी महीने की तुलना में 131 फीसदी अधिक हैं। पिछले साल इसी महीने में ईपीएफओ अंशधारकों की संख्या 3.87 लाख बढ़ी थी। आंकड़ों के मुताबिक ईपीएफओ की सामाजिक सुरक्षा योजनाओं से सितंबर, 2017 से जनवरी 2019 के दौरान करीब 76.48 लाख नये अंशधारक जुड़े। यह बताता है कि पिछले 17 महीनों में संगठित क्षेत्र में कई रोजगार सृजित हुए। हालांकि ईपीएफओ ने यह भी कहा कि आंकड़े अस्थायी हैं क्योंकि कर्मचारियों का रिकॉर्ड है और जरूरत के मुताबिक उसे आने वाले महीनों में संशोधन किया जाएगा।ईपीएफओ के मुताबिक जुड़ने वाले अंशधारकों की संख्या जनवरी 2019 में 8,96,516 रही जो सितंबर, 2017 के बाद सर्वाधिक है.  इस बीच, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने दिसंबर, 2018 के आंकड़ों को संशोधित किया है। आंकड़े के अनुसार पिछले साल दिसंबर में 7.03 लाख रोजगार सृजित हुए जबकि पूर्व में इसके 7.16 लाख रोजगार सृजित होने की बात कही गयी थी।ईपीएफओ ने सितंबर, 2017 से दिसंबर, 2018 की अवधि के दौरान बढ़े हुए आधार पर रोजगार के आंकड़े को भी संशोधित किया है। संशोधित आंकड़े के अनुसार इस दौरान 67.52 लाख रोजगार सृजित हुए जबकि पूर्व में इसके 72.32 लाख रहने का अनुमान जताया गया था। बता दें कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) अप्रैल, 2018 से यह आंकड़े जारी कर रहा है।

ईपीएफओ ने यह भी कहा कि आंकड़े अस्थायी हैं क्योंकि कर्मचारियों का रिकॉर्ड अद्यतन करना एक सतत प्रक्रिया है और जरूरत के मुताबिक उसे आने वाले महीनों में संशोधन किया जाएगा। इस अनुमान में वे कर्मचारी भी शामिल हो सकते हैं जिनका योगदान पूरे वर्ष जारी नहीं रहे। अंशधारकों का आंकड़ा आधार से जुड़ा है।