Blog single photo

पीएफ धारकों को बड़ा तोहफा देने की तैयारी में मोदी सरकार

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) अपने 5 करोड़ से अधिक अंशधारकों को इस महीने के अंत तक एक बड़ा तोहफा दे सकता है। इस सौगात के मिलने के बाद कर्मचारियों को रिटायरमेंट तक काफी अच्छा पैसा मिल सकेगा, जिससे उनकी आगे की जिंदगी बेहतर तरीके से कट सकेगी।

न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 20 जून ): कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) अपने 5 करोड़ से अधिक अंशधारकों को इस महीने के अंत तक एक बड़ा तोहफा दे सकता है। इस सौगात के मिलने के बाद कर्मचारियों को रिटायरमेंट तक काफी अच्छा पैसा मिल सकेगा, जिससे उनकी आगे की जिंदगी बेहतर तरीके से कट सकेगी।श्रम मंत्रालय ने एक प्रस्ताव तैयार किया है, जिसके तहत अंशधारकों के शेयर बाजार में निवेश करने के प्रतिशत को बढ़ाया जा सकता है। अभी यह 15 फीसदी है। इस प्रस्ताव के लागू होने के बाद अंशधारक का ज्यादा पैसा शेयर बाजार में लगने लगेगा, जिससे उन्हें रिटायरमेंट के वक्त ज्यादा पैसा मिलेगा।एंप्लॉयीज प्रोविडेंट फंड ऑर्गनाजेशन (ईपीएफओ) के सब्सक्राइबर्स को ज्यादा रिटर्न हासिल करने के लिए शेयरों में रिटायरमेंट कंट्रिब्यूशन बढ़ाने का ऑप्शन जल्द मिल सकता है। यह जानकारी लेबर मिनिस्ट्री के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी है।श्रम मंत्रालय 26 जून को होनेवाली सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज (सीबीटी) की मीटिंग में 15% की इक्विटी इनवेस्टमेंट लिमिट को बढ़ाने का प्रस्ताव पेश कर सकती है। नॉर्म में किसी तरह का बदलाव करने के लिए फाइनेंस मिनिस्ट्री को नए इनवेस्टमेंट पैटर्न का नोटिफिकेशन जारी करना होगा। ईपीएफओ के अभी 5 करोड़ से ज्यादा सब्सक्राइबर्स हैं।अभी इस पर जो ब्याज मिलता है वो 8.5 फीसदी है, जबकि मार्केट में रिटर्न 10 से 20 फीसदी के बीच मिलता है। हालांकि इस पर वित्त मंत्रालय ही अंतिम फैसला लेगा। श्रम मंत्री संतोष गंगवार की अध्यक्षता में होने वाली इस बैठक में कर्मचारी संगठनों, कंपनियों, केंद्र व राज्य सरकारों के प्रतिनिधि शामिल होते हैं। इस बैठक में अनुमोदन मिलने के बाद प्रस्ताव को वित्त मंत्रालय के पास भेजा जाएगा।

Tags :

NEXT STORY
Top