पीएफ खाताधारकों को तोहफा देने की तैयारी में मोदी सरकार, मिनिमम पेंशन हो सकती है दोगुनी

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 24 जून ): केंद्र की मोदी सरकार कर्मचारी ‌भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के खाताधारकों को तोहफा देने की तैयारी की है। पीएफ पेंशनर्स को मिलने वाली मिनिमम पेंशन 1000 रुपये से बढ़कर 2000 रुपये की जा सकती है। एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक ईपीएफओ और लेबर मिनिस्ट्री ने यह प्रस्ताव तैयार कर दिया है। इस प्रस्ताव पर 26 जून को होने वाली सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टी (सीबीटी) की मीटिंग में मुहर लग सकती है।अखबार को लेबर मिनिस्ट्री के सूत्रों के बताया है कि इस बारे में मंत्रालय और ईपीएफओ में सहमति बन गई है। मिनिमम पेंशन 2000 रुपये करने से सरकार पर 3000 करोड़ रुपये का सालाना बोझ पड़ेगा। ईपीएफओ के पास इतना सरप्लस मनी है कि इस बोझ को आसानी से उठाया जा सकता है। फिलहाल ईपीएफओ के मेंबर्स को न्यूनतम 1000 रुपये और अधिकतम 7500 रुपये तक पेंशन मिलता है।गौरतलब है कि ईपीएफओ ने साल 2017-18 के लिए 5 करोड़ पीएफ खाताधारकों के प्रॉविडेंट फंड की ब्याज दर में कटौती कर दी है। साल 2017-18 के लिए पीएफ की ब्याज दर 8.65 फीसदी से घटकर 8.55 फीसदी कर दी गई है। इस कटौती के बाद पीएफ की ब्याज दर 5 साल के सबसे निचले स्तर पर चली गई।