सवालों से घिरी मोदी सरकार की पर्यावरण नीति...

नई दिल्ली (8 जुलाई): फिर मोदी सरकार पर विपक्ष ने अपनी बंदूकें तान दी हैं। आरोप लगाया जा रहा है कि भारत में प्रदूषण फैलानों वालों को लेकर केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने जो नियम तैयार किया है, उसका तीन चौथाई हिस्सा अमेरिका की नीति से हू-ब-हू मिलता दिख रहा है।

अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, पर्यावरण के एनवायरमेंट सप्लिमेंट प्लान के 3850 शब्दों में से 2900 शब्दों अमेरिका के सप्लिमेंट एनवॉयमेंटल प्रोजेक्ट पॉलिसी से कॉपी किए गए हैं। अमेरिका ने ये नीति मार्च 2015 में अपनाई थी। 

अखबार के मुताबिक, केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने इसी साल 10 मई को एनवायरमेंट सप्लिमेंट प्लान का ड्राफ्ट अपनी वेबसाइट पर डाला और इस पर लोगों से फीडबैक मांगा था। 

पर्यावरण मंत्रालय के ड्राफ्ट नोटिफिकेशन में कहा गया है कि जिन लोगों ने पर्यावरण संबंधी ज़रुरी मंज़ूरी लिए बिना प्रोजेक्ट शुरू कर दिया वो लोग इससे हुए नुकसान का आकलन करेंगे और एनवायरमेंट सप्लिमेंट प्लान को लागू कर नुकसान की भरपाई करेंगे।

देखिए न्यूज़24 की रिपोर्ट...

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=Z-Fc3dVlb-M[/embed]