Cannes 2022: आर माधवन की Rocketry का कांस में जलवा, इस फिल्म में ऐसा क्या है खास?

आर माधवन (R Madhavan) के निर्देशन में बनी पहली फिल्म 'रॉकेट्री: द नांबी इफेक्ट' (Rocketry: The Nambi Effect) ने रिलीज से पहले ही लोगों के बीच हंगामा मचा रखा है।

Cannes 2022: आर माधवन की Rocketry का कांस में जलवा, इस फिल्म में ऐसा क्या है खास?
x

Cannes 2022: आर माधवन (R Madhavan) के निर्देशन में बनी पहली फिल्म 'रॉकेट्री: द नांबी इफेक्ट' (Rocketry: The Nambi Effect)  ने रिलीज से पहले ही लोगों के बीच हंगामा मचा रखा है। कांस 2022 (Cannes 2022) में इस फिल्म की स्क्रीनिंग के लिए पहुंचे माधवन तो इसे लेकर काफी उत्साहित हैं ही, इसे देखने के बाद वहां मौजूद लोगों में भी खूब उत्साह देखने को मिला। सूत्रों का कहना है कि "रॉकेटरी: द नांबी इफेक्ट इस साल कान्स फिल्म फेस्टिवल में सबसे ज्यादा देखी जाने वाली फिल्मों में से एक है।"


फिल्म के बारे में पहले ही चर्चा जोरों पर है। फैंस पहले ही प्रतिभाशाली इसरो वैज्ञानिक (ISRO Scientist Nambi Narayan) नांबी नारायणन की कहानी को बड़े पर्दे पर देखने के लिए सांस रोककर इंतजार कर रहे हैं। कई मीडिया पोर्ट्ल्स में बताया गया है कि प्रतिष्ठित 'पालिस डे फेस्टिवल' में फिल्म के विश्व प्रीमियर ने काफी सुर्खियां बटोरी हैं।



और पढ़िए - Karan Kundrra के सामने शर्मिंदा हुईं तेजस्वी प्रकाश, बार-बार मांगती दिखीं माफी


एक सूत्र ने खुलासा किया कि, "रॉकेटरी: द नांबी इफेक्ट (Rocketry: The Nambi Effect Screening at Cannes 2022)  इस साल कांस फिल्म फेस्टिवल में सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली फिल्मों में से एक है। ये एक विशेष शो है जिसे वेबसाइट पर List नहीं किया गया है, लेकिन लोग सीटें पाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं!"


कौन हैं नांबी नारायण?

80 साल के एस. नंबी नारायणन एक भारतीय एयरोस्पेस इंजीनियर हैं जिन्होंने भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के लिए काम किया है। उन्हें 2019 में भारत के तीसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। फिल्म "रॉकेटरी: द नांबी इफेक्ट" एक सच्ची घटना पर आधारित है, जिसमें रॉकेट साइंटिस्ट नांबी नारायण के जीवन के असल संघर्षों को दिखाने की कोशिश की है। नांबी ने अंतरिक्ष में भारत को सुपरपावर बनाने का सपना देखा था, जिसे पूरा करने के लिए उन्हें काफी कुछ झेलना पड़ा। साल 1994 में नांबी पर धोखाधड़ी का आरोप लगा और उन्हें पाकिस्तान को रॉकेट तकनीक बेचने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया। 


हालांकि, साल 2018 में सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक फैसले में कहा था कि उन्हें जबरन गिरफ्तार किया गया था। नांबी को शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित किया गया था। मामला अब भी कोर्ट में है और सीबीआई इसकी जांच कर रही है। बता दें, वैज्ञानिक नांबी पर उस तकनीक को बेचने के आरोप लगे, जिसे साल 2017 में पहली बार भारत ने टेस्ट किया। इस तकनीक को डेवलप करने में नांबी एक अहम भूमिका निभा रहे थे, जिसकी वजह से रॉकेट के विकास इंजन को तैयार किया गया और भारत ने पहले पीएसएलवी को अंतरिक्ष में भेजा। 



और पढ़िए - Malaika Arora संग शादी की खबरों पर अर्जुन कपूर ने दिया बड़ा हिंट, कह दी ये बात


शाहरुख खान का कैमियो

फिल्म आर माधवन द्वारा लिखित, निर्मित और निर्देशित है, जो खुद ही इसमें मुख्य भूमिका भी निभा रहे हैं। पूर्व एयरोस्पेस इंजीनियर ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया, "मैंने फिल्म देखी है। मैं ज्यादातर समय सेट पर ही देखता था कि क्या शूट और निर्देशित किया जा रहा है। स्क्रिप्ट पर आपस में अच्छी तरह से चर्चा हुई। माधवन ने बहुत अच्छा काम किया है।" इस फिल्म के लिए शाहरुख खान ने एक स्पेशल कैमियो भी शूट किया है। 'रॉकेटरी' को हिंदी, तमिल और अंग्रेजी में एक साथ शूट किया गया था और इसे तेलुगु, मलयालम और कन्नड़ भाषाओं में डब किया जाएगा। फिल्म 1 जुलाई 2022 को रिलीज होने वाली है।






और पढ़िए - मनोरंजन  से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें 









Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story