हिमाचल कॉंग्रेस में धधका लावा, वीरभद्र सिंह पर लटकी ईडी की तलवार

नई दिल्ली (29 मार्च): अरुणाचल और उत्तराखण्ड में कॉंग्रेस सरकार का हस्र सबके सामने है। मणिपुर में किसी भी वक्त चिंगारी भड़क सकती है और हिमाचल में वीरभद्र सिंह पर कभी भी ईडी की तलवार गिर सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ईडी ने गृहमंत्रालय को सूचित कर दिया है कि हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्टाचार के मामलों में उनकी गिरफ्तारी के लिए पर्याप्त सुबूत हैं।

प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारिक सूत्रों के हवाले से एक अंग्रेजी अखबार ने लिखा है कि काला धन इकट्ठा करने के सभी सुबूत जैसे पुरानी तारीखों के स्टाम्प, फर्ज़ी खाता-बही और पुरानी तारीखों के एग्रीमेंट जैसे सुबूत मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के घर से मिले हैं। इन सब की विधिवत जांच हो चुकी है। ये सारे सुबूत उनकी गिरफ्तारी के लिए पर्याप्त हैं। वीरभद्र सिंह को बीते रोज़ सोनिया गांधी ने अपने आवास पर भी बुलाया था।

सूत्र बताते हैं वीरभद्र सिंह ने सोनिया से कहा कि अपनी ही पार्टी के कुछ लोग विपक्ष और ईडी को फर्जी सुबूत मुहैया करा रहे हैं। खैर, जो भी हो वीरभद्र सिंह के खिलाफ उन्हीं की पार्टी के लोग लामबंद हो गये हैं। अगर सोनिया ने उन्हें जल्दी नहीं हटाया तो वहां भी बग़ावत होने के आसार हैं। और अगर सोनिया उन्हें हटा देती हैं तो उनकी गिरफ्तारी निश्चित है।