इंजीनियरिंग के इस छात्र के कारनामों से आश्चर्यचकित हैं लोग!

नई दिल्ली (8 मार्च):  बच्चों की शरारतें जब इ्न्नोवेशन में तब्दील हो जाएं तो दुनिया का चौंकना लाजिमी है। ऐसे ही हैं एक शरारती इनोवेटर रहे हैं जयपुर के खुशहाल सैनी जिनके कमाल के कोई भी आश्चर्यचकित हुए बिना नहीं रह सकता। इसका, जिसका रूम अपने आप में इनोवेशन से कम नहीं। यहां तालियां बजाते ही ऑन हो जाते हैं स्विच, धूप निकलते ही अपने आप लग जाता है पर्दा और हां, इसमें एंट्री लेना किसी चुनौती से कम नहीं, जानिए कैसे...?

आप इसे पागलपन कह सकते हैं या इनोवेशन का पैशन। बचपन में खिलौनों से खेलने, तोडऩे और उन्हें फिर से असेंबल करने के शौक ने एक युवा को इनोवेटर बना दिया। आठवीं क्लास में रोबोट बनाया, 11वीं में दो बाइक को जोड़कर कार और अब एक ऐसा कंट्रोलर बनाया है जिससे 13 डिवाइसेज एक साथ कंट्रोल की जा सकती हैं। इन्होंने अपने रूम को हाईटेक डिजाइन किया है। हार्डवेयर के ये मास्टर हैं। इनके रूम में एंट्री के लिए हाईटेक गेट लगा है। रूम इंफ्रारेड कार्ड और पासवर्ड डालने से खुलता है। खुशहाल बताते हैं, कमरे के एसी, पंखा, लाइट, कर्टेन समेत कई डिवाइसेज वाई-फाई से कनेक्ट हैं। तालियों की आवाज सेंसर और स्विच से जुड़ती है। इसके लिए विशेष हार्डवेयर एम्बेडेड सिस्टम तैयार किया है। जो सेंसर और सॉफ्टवेयर से जुड़कर काम करता है। एसी के टेम्प्रेचर से लेकर कई पंखे की स्पीड को ऑपरेट करना इससे चुटकियों में आसान हो जाता है।