पंपोर में मुठभेड़ खत्म, इमारत से निकाले गए 3 आतंकियों के शव

आसिफ सुहाफ, (22 फरवरी): श्रीनगर के पंपोर में पिछले 3 दिनों से जारी एनकाउंटर खत्म हो गया है। इस एनकाउंटर में 2 कैप्टन समेत 5 जवान शहीद हो गए, वहीं इस हमले में सीआरपीएफ के 12 से ज्यादा जवान भी घायल हुए हैं। आतंकी ईडीआई बिल्डिंग में छिपे हुए थे और फिलहाल सेना इमारत में सर्च ऑपरेशन में जुटी है। इस ऑपरेशन में 3 आतंकियों के शव बरामद कर लिए गए हैं।

इस ऑपरेशन में कैप्टन पवन कुमार, कैप्टन तुषार महाजन, लांस नायक ओम प्रकाश, कॉन्स्टेबल आरके राणा और हेड कॉन्स्टेबल भोला सिंह शहीद हुए। ये वीर योद्धा हैं जिन्होंने आतंकियों से लोहा लेते हुए अपनी जान देश के लिए न्योछावर की हैं जबकि 1 नागरिक के मारे जाने की खबर है। वहीं इस हमले में सीआरपीएफ के 10 से ज्यादा जवान भी घायल हुए हैं।

कैप्टन पवन कुमार महज़ 23 साल के इस जांबाज ने देश की रक्षा के लिए अपनी जान की कुर्बानी दे दी। आरक्षण और आज़ादी के नारों के बीच अपनी शहादत से पहले इस जांबाज़ ने आखिरी पैगाम दिया। उन्होंने लिखा, 'मुझे ना आरक्षण चाहिए, ना आज़ादी।'

कैप्टन तुषार महाजन इस आतंकी हमले में देश ने दो जांबाज़ कैप्टन को खो दिया है। शहीद कैप्टन पवन कुमार की तरह ही कैप्टन तुषार महाजन भी आतंकी हमले में शहीद हो गए हैं। शहीद कैप्टन तुषार महाजन 33 घंटे से आतंकियों से लड़ रहे थे।

आपको बता दें कि शनिवार को सीआरपीएफ के एक काफिले पर आतंकियों ने हमला कर दिया था और इसके बाद से ही सेना और सीआरपीफ ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया था।