Blog single photo

जम्मू-कश्मी के बारामुला में हुई मुठभेड़ में लश्कर के तीन आतंकी ढेर

जम्मू-कश्मीर के बारामुला में मुठभेड़ में सेना ने तीन आतंकियों को मार गिराया। मारे गए तीनों आतंकी लश्कर-ए-तोएबा के हैं। इनमें से दो विदेशी बताए जा रहे हैं। इस बीच, मुठभेड़ में दो-तीन आतंकी फंस गए हैं।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (23 जनवरी):  जम्मू-कश्मीर के बारामुला में मुठभेड़ में सेना ने तीन आतंकियों को मार गिराया। मारे गए तीनों आतंकी लश्कर-ए-तोएबा के हैं। इनमें से दो विदेशी बताए जा रहे हैं। इस बीच, मुठभेड़ में दो-तीन आतंकी फंस गए हैं।  बता दें कि सुरक्षाबलों ने मंगलवार को दक्षिण कश्मीर के शिरमाल (शोपियां) में बर्फबारी के बीच मुठभेड़ में आइपीएस अधिकारी के आतंकी भाई सहित तीन दहशतगर्दो को मार गिराया। इस दौरान एक सुरक्षाकर्मी भी गंभीर रूप से जख्मी हो गया। फिलहाल, सुरक्षाबलों ने मारे गए आतंकियों के अन्य साथियों की धरपकड़ के लिए अपना अभियान जारी रखा हुआ है। कश्मीर में पिछले दो दिन में दो मुठभेड़ों में छह आतंकी मारे गए हैं। गत सोमवार को बड़गाम के चरार-ए-शरीफ इलाके में भी हिजबुल के तीन आतंकी मारे गए थे।

जानकारी के अनुसार, सुबह सेना की 44 आरआर, सेना के पैरा कमांडो और राज्य पुलिस विशेष अभियान दल (एसओजी) के एक संयुक्त कार्यदल ने शिरमाल इलाके में आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर तलाशी अभियान चलाया। जवानों ने जैसे ही गांव के बाहर एक बाग में तलाशी शुरू की तो वहां छिपे आतंकियों ने उन पर फाय¨रग कर दी। जवानों ने भी जवाबी फायर किया। दो घंटे चली इस मुठभेड़ में आतंकी ठिकाना तबाह हो गया और तीन आतंकी मारे गए। इस दौरान एक जवान राहुल कुमार गंभीर रूप से घायल हुआ है। जवान को श्रीनगर के बादामी बाग सैन्य अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। मुठभेड़स्थल सेहथियार व अन्य साजो सामान भी बरामद हुआ है।

सूत्रों के अनुसार, दो आतंकी मौके से भाग निकले हैं, जिन्हें पकड़ने के लिए सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके में तलाशी अभियान चला रखा है।आतंकी बनने से पहले बीयूएमएस में पढ़ रहा था शमस :मारे गए आतंकियों की पहचान शमस उल हक मेंगनु, शोएब अहमद शाह व आमिर सोहेल बट के रूप में हुई है। शमस उल हक शोपियां के द्रगड़ गांव का रहने वाला था। शमस का बड़ा भाई 2012 बैच का आइपीएस अधिकारी है और इन दिनों पूर्वाेत्तर भारत में तैनात है। आतंकी बनने से पहले शमस उल हक श्रीनगर के बाहरी क्षेत्र जकूरा में स्थित एक सरकारी संस्थान में बैचलर्स ऑफ यूनानी मेडिसिन एंड सर्जरी (बीयूएमएस) की पढ़ाई कर रहा था। वह 22 मई 2018 को कश्मीर विश्वविद्यालय परिसर से गायब हुआ था और कुछ ही दिनों के बाद सोशल मीडिया पर उसकी फोटो वायरल होने के साथ उसके आतंकी बनने की पुष्टि हुई थी। आतंकी संगठन ने उसका नाम बुरहान सानी रखा था। शमस का भाई बुधवार सुबह श्रीनगर पहुंच रहा है।

शिरमाल में मुठभेड़ की खबर मिलने और मस्जिदों से ऐलान होने के बाद बड़ी संख्या में लोग नारेबाजी करते हुए मुठभेड़ स्थल तक पहुंच गए। शरारती तत्वों ने सेना पर पथराव शुरू कर दिया। पत्थरबाजों ने सुरक्षाबलों से मारपीट का प्रयास करते हुए उनकी घेराबंदी भी तोड़ने चाही, ताकि आतंकी वहां से निकल सकें। ऐसे में सुरक्षाबलों ने ¨हसक तत्वों को खदेड़ने के लिए लाठियों, आंसूगैस और पैलेट का भी सहारा लिया। इस झड़प में चार स्थानीय पत्रकारों व छह सुरक्षाकर्मियों समेत 16 लोग जख्मी हो गए। बताया जा रहा है कि हिंसक प्रदर्शनकारियों ने दो कार व दो बाइक को भी आग के हवाले कर दिया।

Tags :

NEXT STORY
Top