मध्य प्रदेश का 'पा' एक दिन के लिए बना बाल आयोग का अध्यक्ष

नई दिल्ली ( 24 मार्च ): अमिताभ बच्चन का ‘पा’ फिल्म में निभाया किराया किरदार तो सभी को याद होगा जिसमें वह प्रोजेरिया नाम की एक बीमारी से पीड़ित रहते हैं। एक ऐसी बीमारी जिसमें 10 साल का बच्चा 60 साल के बुजुर्ग जैसा दिखता है। मध्य प्रदेश के जबलपुर निवासी दंपत्ति के जुड़वा पुत्र सिद्धांत और श्रेयांस में से श्रेयांस प्रोजेरिया बीमारी से पीड़ित हैं।


मप्र के जबलपुर में रहने वाले 10 साल के श्रेयांस की खुशी का ठिकाना उस समय नहीं रहा जब उसकी इच्छा के मुताबिक शुक्रवार को उन्हें एक दिन के लिए बाल आयोग का अध्यक्ष बनाया गया। 10 साल का मासूम श्रेयांस भी प्रोजेरिया जैसी लाइलाज बीमारी से जूझ रहा हैं।


10 साल की उम्र में ही मासूम 60 साल के बुजुर्ग सा दिखता हैं। यह बीमारी लाखों में से एक बच्चे को होती हैं और ऐसे बच्चे अल्पायु होते हैं। श्रेयांस बड़ा होकर बाल अध्यक्ष बनना चाहता हैं। बाल आयोग के वर्तमान अध्यक्ष डॉ. राघवेन्द्र शर्मा को जब मासूम की इच्छा का पता चला तो उसकी खुशी की खातिर उसे एक दिन का बाल आयोग का अध्यक्ष बनाने का फैसला किया गया।


शुक्रवार को भोपाल के समन्वय भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में श्रेयांस लाल बत्ती लगी गाड़ी से पहुंचा। इसके बाद उसने विधिवत बाल आयोग अध्यक्ष का कार्यभार संभाला।


गाने के शौकीन श्रेयांस ने इस दौरान गाना गाकर वहां मौजूद सभी लोगों का मन मोह लिया। श्रेयांस ने बताया कि वह बड़ा होकर बाल आयोग का अध्यक्ष बनना चाहता हैं और शारीरिक और मानसिक रूप से कमजोर बच्चों के लिए काम करना चाहता हैं।