RBI ने रेपो रेट में कोई नहीं किया बदलाव, 6.50% ही रहेगा

नई दिल्ली (7 जून): आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन और कमेटी ने RBI मौद्रिक नीति की समीक्षा करते हुए फैसला लिया है कि ब्याज दरों में किसी प्रकार का बदलाव नहीं होगा। इस फैसले के तहत RBI ने रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है, यानी कि 6.50% ही रहेगा और रिवर्स रेपो रेट 6 फीसदी बरकरार रहेगी। आरबीआई ने सीआरआर में कोई बदलाव नहीं किया है और ये 4 फीसदी पर कायम है। एमएसएफ यानी मार्जिनल स्टैंडिंग फैसिलिटी दर भी 7 फीसदी पर बरकरार है। बता दें कि पहले ही यह कयास लगाए जा रहे थे कि EMI का बोझ नहीं बढ़ेंगा। इसकी वजह मॉनसून को बताया गया, क्योंकि रघुराम राजन मॉनसून को देखने के बाद ही ब्याज दर में कटौती करने के संकेत दे रहे हैं।

एक वरिष्ठ बैंक अधिकारी ने बताया था कि आरबीआई इस बार यथास्थिति बनाए रखेगा। मुद्रास्फीति के आंकड़े उम्मीद के अनुसार ही हैं पर वे बहुत सुखद नहीं कहे जा सकते थे। केवल एक ही उत्साहजनक बात है, मॉनसून के अच्छे होने का अनुमान। आरबीआई मानसून की प्रगति को देखकर ही कटौती न करने का निर्णय लिया है।

साफ है कि रघुराम राजन ब्याज दर घटाने से पहले मॉनसून की प्रगति की थाह लेना चाहते हैं। वैसे अच्छी बात ये है कि मॉनसून को आने में भले ही देरी हो रही हो लेकिन इस बार उसके सामान्य से बेहतर रहने की उम्मीद है। राजन ने पिछले साल जनवरी से लेकर अब तक ब्याज दर में कुल मिलाकर 1.5 प्रतिशत की ही कटौती की है। उनकी आलोचना इसी बात को लेकर हो रही है कि उन्होंने दरों में कमी शुरू करने से पहले जरूरत से ज्यादा समय तक मौद्रिक नीति को सख्त रखा।