'आलू और नींबू से बना दी बिजली, जला दिया बल्ब'

नई दिल्ली (16 दिसंबर):  उत्तर प्रदेश के अंबेडकरनगर जिले के एक कॉलेज के दो छात्रों ने आलू और नींबू से बिजली पैदा करने का चमत्कार कर दिखाया है। रामकुमार पांडेय ग्रामोदय कॉलेज के बीएससी सेकेंड इयर के छात्र संतोष कुमार पांडेय और परितोष मिश्रा ने इन दोनों फलों से बिजली पैदा कर बल्ब जलाने का हैरतअंगेज कारनामा कर दिखाया।

कॉलेज की स्थापना के रजत जयंती समारोह में लगाई प्रदर्शनी में इन दोनों छात्रों ने इसका मॉडल भी पेश किया। बीएससी सेकेंड इयर के छात्र संतोष कुमार पांडेय ने बताया कि यह रिडॉक्स प्रक्रिया पर आधारित है।

छात्रों के इस अविष्कार को देखकर वहां मौजूद लोग भी दंग रह गए।मॉडल के निर्देशक डॉ. अनुपम पांडेय ने बताया कि जब किसी रसीले फल में तांबे और जिंक का कील लगाते हैं तो वह कील इलेक्ट्रोड का कार्य करता है। फल का रस इलेक्ट्रोलाइट का कार्य करता है। दोनों इलेक्ट्रोड को तांबे के तार से जोड़कर किसी बल्ब में लगा दिया जाता है तो यह बल्ब कुछ देर के लिए जल जाता है।