निजी इलेक्ट्रिक कारों पर सब्सिडी बंद करने की तैयारी में जुटी सरकार

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 जून): निजी इलेक्ट्रिक कारों पर मिलने वाली सब्स‍िडी को सरकार खत्म करने जा रही है। दूसरी तरफ, सरकार ओला और उबर जैसी कैब सेवाओं को इलेक्ट्रिक कारों पर नकद सब्सिडी देने की तैयारी में जुटी हुई है।देश में स्वच्छ ईंधन को प्रोत्साहित करने की बात होती रही है, ऐसे में सरकार का यह कदम चौंकाने वाला हो सकता है। इलेक्ट्रिक कारों की बिक्री वैसे भी काफी कम रही है, ऐसे में अगर प्रोत्साहन बंद हुआ तो इलेक्ट्रिक कारों की बिक्री में भारी गिरावट आ सकती है।मीडिया रिपोर्ट्स के मुतबाकि निजी इलेक्ट्रिक कारों पर नगद सब्सिडी खत्म करने का कई जानकार समर्थन कर रहे हैं। वो तर्क दे रहे हैं। कि सरकार ने अब ओला और उबर जैसी साझी गाड़ियां रखने वाली सेवाओं को नकद सब्सिडी देने का निर्णय लिया है।जानकारी के लिए आपको बता दें कि सरकार ने निजी इलेक्ट्रिक कारों पर इसलिए सब्सिडी हटाने का फैसला किया है, क्योंकि इससे न तो इन कारों की बिक्री बढ़ रही है और न ही पर्यावरण को स्वच्छ करने का उद्देश्य पूरा हो रहा है। उनका तर्क है कि निजी इलेक्ट्रिक कारें बहुत कम चल रही हैं।गौरतलब है कि सरकार फिलहाल स्वच्छ ईंधन कार्यक्रम के तहत इलेक्ट्रिक कारों पर 1.3 लाख रुपये तक की छूट देती है। लेकिन इसके लिए भारी उद्योग मंत्रालय की जो नई ड्राफ्ट पॉलिसी आई है उसमें सब्सिडी हटाने का प्रस्ताव रखा गया है। इस कार्यक्रम के पहले चरण में 1 हजार करोड़ रुपये का बजट रखा गया था।