IS के खात्मे के बाद इराक में पहली बार आम चुनाव, हाई अलर्ट पर सुरक्षा कर्मी

नई दिल्ली (12 मई): इराक में आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट के खात्मे की घोषणा के बाद पहली बार हो रहे संसदीय चुनाव के लिए आज मतदान शुरू हो गया। हिंसा प्रभावित इस देश में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान केन्द्रों को खोला गया। 

देश की संसद की 329 सीटों के लिए सात हजार प्रत्याशी मैदान में हैं,जिनमे सबसे प्रचलित नाम 2008 में अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज बुश पर जूते फेंकने वाले इराकी पत्रकार मंतुजर अल जैदी भी मैदान में है। इराक में नौ महीने की जेल काट चुके जैदी अब सांसद बनकर देश के लिए काम करना चाहते हैं। उन्होंने सरकार में बड़ा पद हासिल करने की भी मंशा जताई है।

जैदी के मुताबिक अगर वे पीएम या राष्ट्रपति बनते हैं तो भारत के साथ संबंध बेहतर करना उनती प्राथमिकता होगी। पीएम मोदी का जिक्र करते हुए जैदी ने कहा कि वे दुनियाभर में काफी लोकप्रिय हैं और उम्मीद है कि वे अपने देश को सफलता की ओर ले जाएंगे। चुनाव लड़ रहे जैदी ने कहा है कि भारत और इराक के बीच में काफी समानताएं है। धार्मिक विश्वास और विरासत के मामले में भी दोनों देश घुले-मिले हुए हैं। इतिहास में दोनों के साम्राज्यवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ने का जिक्र है।