रीजनल पार्टियों को मिला 107Cr का चंदा, सबसे ज्यादा डोनेशन शिवसेना को

नई दिल्ली(19 जनवरी): नेशनल इलेक्शन वॉच और एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक 2015-16 में रीजनल पार्टियों को मिला टोटल डोनेशन 107 करोड़ था। खास बात ये कि 20 रीजनल पार्टियों के मुकाबले चार गुना ज्यादा चंदा अकेले शिवसेना को मिला है।

- शिवसेना को 86.84 करोड़ रुपए डोनेशन मिला। 48 में से 26 रीजनल पार्टियों के डोनेशन सबमिशन में गड़बड़ी पाई गई है।

- बता दें कि रीजनल पार्टियों को 20 हजार रुपए से ऊपर डोनेशन की जानकारी इलेक्शन कमीशन को देनी होती है।

- नेशनल इलेक्शन वॉच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने एक रिपोर्ट में रीजनल पार्टियों को मिले डोनेशन की डिटेल जारी की।

- 20 हजार से ऊपर डोनेशन पाने वाली 16 रीजनल पार्टियों में शिवसेना टॉप पर है। शिवसेना को 143 डोनेटर्स ने 86.84 करोड़ रुपए डोनेशन दिया। 

इस रकम में अकेले वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज लि. ने ही 85 करोड़ रुपए यानी 98% दिए।

- AAP इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर है। 1187 डोनेटर्स से AAP को 6.605 करोड़ रुपये का चंदा मिला।

- रिपोर्ट के मुताबिक एआईएडीएमके, बीजेडी, जेएमएम, एनपीएफ और आरएलडी ने इलेक्शन कमीशन को बताया कि उन्हें 2015-16 में 20 हजार रुपए से ऊपर चंदा ही नहीं मिला। जबकि इनमें से 4 पार्टियों ने 2014-15 के दौरान 25.56 करोड़ का डोनेशन मिलने की जानकारी दी थी।

इन पार्टियों को मिला 20 हजार से ऊपर डोनेशन

- शिवसेना, AAP, टीडीपी, पीएमके, जेडीयू, वाईएसआर-कांग्रेस, एलआईपी, एआईयूडीएफ, टीआरएस, जेडीएस, आरजेडी, आईयूएमएल, एमएनएस, एसएडी, एसडीएफ और डीएमडीके।

कॉरपोरेट डोनेटर्स ने दिए 91 करोड़

- रिपोर्ट के मुताबिक 2015-16 में 107.62 करोड़ रुपए में से 90.89 करोड़ रुपए यानी 84.45% चंदा कॉरपोरेट डोनर्स ने दिया है। 16.59 करोड़ यानी 15.42% पर्सनल डोनर्स ने दिए हैं।