EC की केजरीवाल को चेतावनी, रद्द कर देंगे पार्टी की मान्यता

नई दिल्ली (21 जनवरी): हमेशा कुछ ना कुछ अजीब बयान देकर बखेड़ा खड़ा करने वाले आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को चुनाव आयोग ने कड़ी फटकार लगाते हुए पार्टी की मान्यता रद्द करने की चेतावनी दी है।

चुनाव आयोग ने केजरीवाल को उनकी 'रिश्वत' संबंधी टिप्पणी के लिए कड़ी फटकार लगाई है। आयोग ने उन्हें चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर वह चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन जारी रखते हैं तो उनके और उनकी पार्टी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी, जिसमें आम आदमी पार्टी की मान्यता को निलंबित या खत्म करने की कार्रवाई भी शामिल है।

- केजरीवाल आगे से चुनाव के दौरान अपने भाषणों में संयम बरतेंगे।

- आप यह भी ध्यान रखें कि अगर भविष्य में चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन होता है तो आयोग इलेक्शन सिंबल्स (रिजर्वेशन ऐंड अलॉटमेंट) ऑर्डर ऐक्ट के पैरा 16 के तहत आपके और आपकी पार्टी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगा।

पैरा-16 के तहत चुनाव आयोग को आचार संहिता के उल्लंघन की दशा में किसी पार्टी की मान्यता को खत्म या निलंबित करने का अधिकार है। इससे पहले चुनाव आयोग ने 16 जनवरी को अरविंद केजरीवाल को कारण बताओं नोटिस जारी किया था।

क्या कहा था केजरीवाल ने

इसी महीने अरविंद केजरीवाल ने गोवा में एक चुनावी रैली के दौरान लोगों से अपील की थी कि वे कांग्रेस और बीजेपी से पैसे लें मगर वोट आम आदमी पार्टी को दे। उन्होंने लोगों से कहा था कि कांग्रेस और बीजेपी के लोग उन्हें पैसे देने आएंगे। महंगाई को ध्यान में रखते हुए लोगों को उनसे 5000 की जगह 10000 रुपये मांगने चाहिए, वह भी नए नोटों में।

आयोग का फैसला गलत, कोर्ट में चुनौती दूंगा: केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने चुनाव आयोग के फैसले को गलत बताया है। उन्होंने ट्वीट किया, 'मेरे खिलाफ चुनाव आयोग का फैसला पूरी तरह गलत है। निचली अदालत में मेरे पक्ष में फैसला दिया था। चुनाव आयोग ने अदालत के आदेश पर ध्यान नहीं दिया। आयोग के इस फैसले को अदालत में चुनौती दूंगा।'