मेयर बनते ही सादिक ख़ान पहुंचे स्वामीनाथ मंदिर, कृष्णजी की पालकी झुलायी

नई दिल्ली (10 मई): पाकिस्तानी मूल के ब्रिटिश नागरिक सादिक खा़न ने लंदन का मेयर चुने जाते ही एक रिकॉर्ड तो कायम कर ही दिया था, उन्होंने पहला  एक मिसाल भी कायम कर दी। मेयर चुने जाने के बाद सादिक अपने पहले सार्वजनिक भ्रमण पर निकले पहुंच गये लंदन के ही स्वामीनाथ मंदिर।

उन्होंन वहां विधिवत पूजा की और लड्डू गोपाल भगवान श्रीकृष्ण पालकी को झूला भी झुलाया। मेययर पद पर जीत दर्ज होते ही  सादिक खान ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा था कि स्वामी नारायण मंदिर, लन्दन में उनके पसंदीदा स्थानों में से एक है।

सादिक खान का मानना है की ये मंदिर स्थानीय समुदाय के समर्पण का प्रतिरूप है।  भारतीयों  ने भारत के बाहर इतना बड़ा हिन्दू मंदिर बनाने में बहुत योगदान दिया है। पोस्ट पर उन्होंने लिखा कि उनके जीवन की कहानी लन्दन में रहने वाले कई भारतीय मूल के लोगों जैसी है। उनके परिवार के लिए एक बेहतर जीवन का निर्माण करने के लिए उनके माता-पिता, 1970 में लन्दन बस गये थे।

उन्होंने कहा मेयर बनकर वो लन्दन के भारतीय समुदाय के लिए खड़े होंगे और भारत की लन्दन के साथ दोस्ती को मज़बूत करेंगे। वो जल्द ही भारत के लिए एक व्यापर प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करने के लिए तत्पर हैं। खान ने कहा की विकास और नयी तकनीक उन की प्राथमिकता होगी।

उन्होंने ये भी कहा कि वो सरकार की अनुचित वीज़ा प्रतिबन्ध को भी चुनौती देंगे, जिसकी वजह से कारोबार में ज़रूरी कौशल खोजने में कठिनाई होती है। उनकी पहली प्राथमिकता हमेशा लन्दन की सुरक्षित रखना होगा- चाहे असामाजिक व्यव्हार या हिंसक अपराध से।

सादिक खा़न ने साफ़ कहा कि वो लंदन में उग्रवाद और कट्टरता के बढ़ते खतरे के बारे में चिंतित है और वो ब्रिटिश मुस्लिंम बनकर चरमपंथियों से लड़ने में जरा भी संकोच नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि वह लंदन के मेयर पद की शपथ लेन के बाद   श्री स्वामीनारायण मंदिर की अपनी अगली यात्रा का इंतजार है।