शर्मनाक: 'छोटे कपड़े में हो लड़की, तो रेप करना नेशनल ड्यूटी'

बीजिंग (4 अक्टूबर): एक तरफ जहां दुनियाभर में महिलाओं के प्रति अपराध पर लगाम, पुरुषों के समान बराबरी का हक और सम्मान दिए जाने के लिए आवाज बुलंद हो रही है। वहीं महिलाओं और लड़कियों के छोटे कपड़े पहनने को लेकर देश में ही नहीं विदेश में भी छोटी सोच के लोग मौजूद हैं। इसकी बानगी मिस्र में देखने को मिली। मिस्र के एक वकील ने एक टीवी चैनल पर कहा है कि जो लड़की छोटे कपड़े पहनती है उसका रेप किया जाना पेट्रियोटिक ड्यूटी है। वकील का नाम नबीह अल-वाहश है। टीवी शो में बहस प्रॉस्टीट्यूशन को लेकर ड्राफ्ट किए गए एक कानून पर हो रही थी।

वकील नबीह अल-वाहश ने कहा कि जब आप एक लड़की को सड़क पर चलते हुए देखते हैं, जिसके पीछे का आधा हिस्सा बिना कपड़ों का होता है, क्या आप खुश होते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि मैं कहता हूं कि जब एक लड़की इस तरह चलती है तो ये देशभक्त का काम है कि उस पर यौन हमला करे और ये राष्ट्रीय कर्तव्य है कि उस लड़की का रेप किया जाए।

वकील के इस बयान के बाद विवाद हो गया है। इजिप्ट की नेशनल काउंसिल फॉर वीमेन ने मामले में टीवी चैनल पर शिकायत दर्ज कराने का फैसला लिया है। इजिप्ट के नेशनल काउंसिल फॉर वीमेन ने यह भी कहा है कि ऐसे बयानों को टीवी चैनल पर जगह नहीं मिलनी चाहिए।