मिस्र के गिरजाघरों पर ISIS के हमलों के बाद आपातकाल लागू

नई दिल्ली (10 अप्रैल): मिस्र के राष्ट्रपति अब्दुल फतह अल-सीसी ने दो शहरों के गिरजाघरों में विस्फोटों के बाद देश में तीन महीने के आपातकाल का ऐलान कर दिया है। रविवार को हुए इन विस्फोटो में कम से कम 45 लोगों की मौत हो चुकी है। राष्ट्रीय रक्षा परिषद की बैठक के बाद राष्ट्रपति अल सीसी ने तीन महीने के आपातकाल का ऐलान किया।


मिस्र के दो शहरों तांता और अलेक्जेंड्रिया में रविवार की प्रार्थना के लिए कॉप्टिक चर्चों में जुटे श्रद्धालुओं की भीड़ को निशाना बनाते हुए दो अलग-अलग बम धमाकों में अबतक 45 लोगों की मौत हो गई है जबकि 120 अन्य घायल हुए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक बयान के मुताबिक पहला धमाका काहिरा से करीब 120 किलोमीटर दूर नील डेल्टा में तांता शहर के सेंट जॉर्ज कॉप्टिक चर्च में हुआ। इसमें 27 लोगों की मौत हो गई, जबकि 78 अन्य घायल हो गए। पुलिस ने कहा कि इसके कुछ घंटों बाद अलेक्जेंड्रिया के मनशिया जिले के सेंट मार्क्स कॉप्टिक ऑर्थोडॉक्स कैथेड्रल में भी एक आत्मघाती हमलावर ने धमाका किया।