प्रोफेशनल कोर्सेस की मोटी फीस से बचना है तो डिस्टेंस लर्निंग का रुख करें छात्र: डॉ तपन कुमार

इंटरनेट के जरिये ग्लोबल विलेज में बदल चुकी दुनिया ने शिक्षा के संसार को भी पूरी तरह बदल दिया है। अब छात्र डिग्रियां बटोरने की बजाय बारहवीं के बाद ही किसी ऐसे कोर्स की तलाश में रहते हैं, जो उन्हें जल्द से जल्द अच्छा रोजगार दिला सके और जल्दी से उनका करियर एक बेहतर दिशा में बढ़ सके।

प्रोफेशनल कोर्सेस की मोटी फीस से बचना है तो डिस्टेंस लर्निंग का रुख करें छात्र: डॉ तपन कुमार
x

नई दिल्ली: इंटरनेट के जरिये ग्लोबल विलेज में बदल चुकी दुनिया ने शिक्षा के संसार को भी पूरी तरह बदल दिया है। अब छात्र डिग्रियां बटोरने की बजाय बारहवीं के बाद ही किसी ऐसे कोर्स की तलाश में रहते हैं, जो उन्हें जल्द से जल्द अच्छा रोजगार दिला सके और जल्दी से उनका करियर एक बेहतर दिशा में बढ़ सके। 


आज की तारीख में बारहवीं के बाद तमाम ऐसे डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स उपलब्ध हैं, जिनकी मांग दुनियाभर में है। लेकिन कोई कोर्स पसंद आना और उसे ज्वाइन कर सफलतापूर्वक पूरा कर लेना दो अलग-अलग बाते हैं। ऐसे प्रोफेशनल कोर्सेस में स्टूडेंट्स के सामने सबसे बड़ी बाधा होती है संस्थानों की मोटी फीस, जिसे वहन कर पाना अक्सर छात्रों के लिए मुश्किल हो जाता है।


WPIUN, Chairman (Dr. Tapan Kumar) डॉ. तपन कुमार राउतराय कहते हैं कि देश में अगर किसी छात्र को किसी संस्थान से डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स करना होता है तो उसके लिए मोटी फीस देनी होती है। ऐसे संस्थान महज छह महीने के कोर्स के लिए दो से ढाई लाख रुपये की मोटी फीस वसूलते हैं। इतनी ज्यादा फीस सबके लिए अफोर्ड कर पाना मुश्किल है। इस परेशानी का सबसे अच्छा हल है डिस्टेंस लर्निंग का चुनाव, जिसके जरिये तमाम तरह के राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय कोर्स बेहद कम फीस में किए जा सकते हैं और देश-विदेश में अच्छी जॉब हॉसिल की जा सकती है।


देश में कई डिजिटल इंस्टीट्यूट बहुत मामूली फीस में ऑनलाइन डिस्टेंस लर्निंग के माध्यम से ऐसे सभी कोर्स करा रहे हैं, जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त हैं। इन कोर्सेस को पढ़ाने का तरीका ना सिर्फ आधुनिक और वैज्ञानिक है, बल्कि सुविधाजनक भी है। इससे छात्रों के समय के साथ साथ पैसों की भी बचत होती है। ऑनलाइन डिस्टेंस लर्निंग से प्रोफेशनल कोर्सेस में अंतरराष्ट्रीय गुणवत्ता भी आ रही है और युवाओं को उस तक पहुंचने में आसानी भी हो रही है। 


WPIUN, Chairman (Dr. Tapan Kumar)  डॉ. तपन बताते हैं कि डब्ल्यूपीआईयूएन के तहत बिजनेस मैनेजमेंट, बैंकिंग और फाइनेंस, अकाउंटिंग, हेल्थकेयर, कंप्यूटर एप्लीकेशंस, पत्रकारिता, कॉर्पोरेट लॉ एंड टीचर ट्रेनिंग, नर्सिंग, जर्नलिज्म, मार्केटिंग, रिटेल और हॉस्पिटैलिटी जैसे विभिन्न क्षेत्रों में सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्सेस की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान की जाती है। इसके सभी पाठ्यक्रम इंडस्ट्री में स्वीकार्य है और मान्यता प्राप्त हैं।


WPIUN, Chairman (Dr. Tapan Kumar) डॉ. तपन कुमार कहते हैं कि संस्थान का मकसद छात्रों को सीखने का अभूतपूर्व अनुभव प्रदान करना होता है। जिसके लिए संस्थान के पास टीचिंग प्रोफेशनल्स की एक सम्मानित फैकेल्टी काम करती है, जिनके पास अपने क्षेत्र का व्यापक ज्ञान और व्यापक अनुभव होता है। संस्थान की प्रभावी कंप्यूटर-आधारित परीक्षा और वर्चुअल क्लासरूम सुविधाएं शिक्षार्थियों और शिक्षकों के बीच की दूरी को खत्म कर पढ़ाई को आसान बनाती है। छात्रों को कंप्यूटर-आधारित असाइनमेंट सबमिशन, कंप्यूटर-आधारित परीक्षा शेड्यूलिंग, डाउट क्लेरिफिकेशन, व्यक्तिगत सहायता और काउंसलिंग सेशंस की सुविधा प्रदान की जाती है। 





और पढ़िए – शिक्षा से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें





Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story