मनी लांड्रिंग केस: हसन अली पर ED का शिकंजा, 4 ठिकानों पर छापेमारी


नई दिल्ली (10 अगस्त): मुंबई के कारोबारी हसन अली के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने छापेमारी की है। ये छापेमारी उनके चार ठिकानों पर की गई है। हसन अली पर टैक्स चोरी और हवाला मामले के आरोप भी हैं। 2007 में पहली बार उनका नाम चर्चा में आया था। ईडी ने हसन अली के हवाला कारोबार की जांच कर रही है। ईडी की टीम ने हसल अली के मुंबई में 4 जगहों पर और पुणे में एक जगह छापेमारी की है। मुंबई के मरीन लाइन कालबादेवी कोलाबा और वर्ली में छापेमारी जारी है। 

हसन अली इन दिनों कर चोरी और काले धन की धांधली के चलते विवादों में है। सूत्रों के मुताबिक ईडी का कहना है कि मनी लॉन्ड्रिंग में घिरे हसन अली ने 2001 से 2008 यानि महज सात साल में करीब 1 लाख करोड़ की काली कमाई जमा कर ली।

बताया जाता है कि उसने वर्जिनिया आईलैंड में अपनी काली कमाई को छुपाया हुआ है। उसके खिलाफ साल 2011 में मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया गया था और तब से ही वो ईडी के रडार पर है।

बता दें कि इस आरोप में हसन अली जेल की हवा भी खा चुका है और वो पिछले साल अगस्त में जमानत पर जेल से बाहर आया था। हसन अली फिलहाल अपने मुंबई और पुणे के घर में रह रहा है।