अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ने से भारत में बढ़ेंगे ईंधन के दाम

नई दिल्ली (31 जनवरी): वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को लोकसभा में आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया। इस सर्वेक्षण में देश की अर्थव्यवस्था के अनुमानित आंकड़े पेश किए गए। सर्वे में अर्थव्यवस्था बेहतर होने के संकेत दिए गए हैं। इकोनॉमिक सर्वे के मुताबिक वित्त वर्ष 2016-17 में देश की जीडीपी ग्रोथ 7 से 7.5 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया गया है।

समीक्षा में कहा गया है कि कई तरह की चुनौतियों की वजह से जीडीपी अनुमान कम रहने की संभावना जताई गई। हालांकि इसके बावजूद राजकोषीय घाटे को जीडीपी के मुकाबले 3.9 फीसदी रखने का लक्ष्य संभव है।

वहीं आर्थिक सर्वे में कहा गया है कि आंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दमा बढ़ने से भारत में ईंधन के दाम बढ़ सकते हैं। कच्चे तेल के दाम 65 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर जाते हैं तो वैश्विक तेल के दाम बढ़ सकते हैं। वैश्विक दृष्टिकोण से अगर कच्चे तेल की कीमत 65 से ऊपर चली जाती है, तो हमारी अर्थव्यवस्था पर भी इसका उल्टा असर देखा जाएगा।