मतदाता सूची में 3 करोड़ युवाओं का नाम जोड़ेगा EC

नई दिल्ली (3 जुलाई): चुनाव आयोग ने युवाओं के नाम को वोटर सूची में जोड़ने के लिए खास अभियान चलाया है। इसके तहत एक जुलाई से चुनाव आयोग के कर्मचारी घर-घर जाकर जहां युवाओं का नाम मतदाता सूची में दर्ज कर रहे हैं वहीं तमाम वोटरों को सूचीबद्ध करने के लिए चुनाव आयोग ने फेसबुक के साथ मिल कर एक अभियान शुरू किया है। चुनाव आयोग फेसबुक पर इसके लिए युवाओं को संदेश भी भेज रहा है।


चुनाव आयोग के मुताबिक 18 से 19 वर्ष के नये वोटरों में से लगभग 60 फीसदी के नाम अब तक मतदाता सूची में शामिल नहीं हो सका है। आयोग को उम्मीद है कि 2019 के लोकसभा चुनावों से अधिक से अधिक नए वोटरों के नाम मतदाता सूची में शामिल करने में कामयाबी मिलेगी। 


चुनाव आयोग की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में 18 से 19 साल तक के 3.36 करोड़ नए वोटरों के नाम अब तक मतदाता सूची में शामिल नहीं हो सके हैं। ऐसे वोटरों ने अब तक खुद को पंजीकृत नहीं किया है। उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र व मध्य प्रदेश जैसे बड़े राज्यों में ऐसे युवाओं की तादाद सबसे ज्यादा है।


मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी का कहना है कि 5-6 साल पहले तक नए वोटरों की कुल तादाद में से महज 10 फीसदी के नाम ही सूची में थे। लेकिन आयोग के प्रयासों से अब यह आंकड़ा 40 फीसदी तक पहुंच गया है।