EC की खुली चुनौती, कोई भी EVM को हैक करके दिखाए

नई दिल्ली (12 अप्रैल): इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन यानी EVM से छेड़छाड़ के मसले पर जारी सियासी घमासान के बीच एकबार फिर चुनाव आयोग ने इसे पूरी तरह से सुरक्षित बताया है। साथ ही चुनाव आयोग ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के उस चुनौती को भी स्वीकार कर लिया है जिसमें उन्होंने दावा किया था कि EVM में छेड़छाड़ संभव है। आयोग ने ईवीएम पर सवाल उठाने वालों को मशीन में छेड़छाड़ कर डाटा बदलने की चुनौती दी है। इसके लिए आयोग जल्द ओपन वर्कशॉप आयोजित करने की योजना बना रहा है।


आयोग मई के पहले हफ्ते में EVM से छेड़छाड़ साबित करने की चुनौती देगा। यह चुनौती 10 दिन तक खुली रहेगी. इस दौरान ईवीएम में तीन से चार स्तर तक टैंपरिंग करने की खुली चुनौती होगी। यही नहीं चुनाव आयोग EVM मशीन खोलकर भी उसमें छेड़छाड़ करने की चुनौती दे सकता है। चुनाव आयोग का कहना है कि 2009 में भी EVM  की स्वामित्वता पर सवाल उठाए जाने के बाद हमने खुला चैलेंज दिया था लेकिन कोई इसे प्रूव नहीं कर सका।