चुनाव आयोग ने बीजेपी के चुनावी विज्ञापन पर लगाया बैन

नई दिल्ली (7 अप्रैल): चुनाव आयोग ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के एक चुनावी विज्ञापन को प्रतिबंधित कर दिया है। इस विज्ञापन में बच्चों और शैक्षणिक संस्थाओं को चुनाव अभियान के मैटीरियल के तौर पर इस्तेमाल किया गया था।

रिपोर्ट के मुताबिक, पश्चिम बंगाल के चीफ इलैक्टोरल ऑफिसर की तरफ से बीजेपी दफ्तर को एक चिट्ठी भेजी गई है। जिसमें कहा गया है, "मीडिया सर्टिफिकेशन एपीलिएट कमिटी ने गौर करने के बाद यह राय बनाई है कि कथित ऑडियो वीडियो एड में एक शैक्षिक संस्थान और 14 साल से कम उम्र के बच्चों का राजनैतिक अभियान के लिए इस्तेमाल कर दो आधार पर गलती की है। यह कानूनी प्रावधान के खिलाफ है।"

तृणमूल कांग्रेस सांसद डेरेक ओब्रियन ने चुनाव आयोग के समक्ष शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें 30 सेकेंड के टीवी एड सुनयो के बारे में कहा था कि यह आचार संहिता का उल्लंघन करता है। इसके अलावा चाइल्ड लेवर प्रॉहिविशन एंड रेगुलेशन एक्ट, 1986 के प्रावधानों का उल्लंघन करता है। 

शिकायत पर जांच करने के बाद सीईओ सुनील गुप्ता की अगुवाई वाली कमिटी ने बीजेपी को इस विज्ञापन को हर तरह की मीडिया से तत्काल प्रभाव से हटाए जाने के लिए कहा है।