ईज ऑफ डूइंग बिजनेस' में भारत ने लगाई 23 स्थान की छलांग, 77 स्थान पर पहुंचा

                                     image source: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 31 अक्टूबर ): ईज ऑफ डूइंग बिजन रैकिंग में भारत ने लगातार दूसरे साल लंबी छलांग लगाई है। वर्ल्ड बैंक ने बुद्धवार को ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की रेटिंग जारी कर दी। विश्व बैंक की ओर से जारी सूची में भारत ने 23 पायदान के छलांग के साथ 77वां स्थान हासिल किया है। भारत पिछले साल 100वें स्थान पर था। पिछले दो सालों में भारत की रैकिंग में कुल 53 पायदान का सुधार आया है। 2014 से 2018 तक 65 रैंक का सुधार आया है।विश्व बैंक की पिछले साल की कारोबार सुगमता रैंकिंग में भारत 30 पायदान की छलांग के साथ 100वें स्थान पर पहुंच गया था। इसमें 190 देशों को रैंकिंग दी गई थी। यह एक वर्ष के अंतराल में भारत द्वारा लगाई गई सबसे बड़ी छलांग थी। नरेंद्र मोदी सरकार के 2014 में सत्ता में आने के समय भारत की रैंकिंग 142 थी। पीएम ने आने वाले सालों में भारत को टॉप 50 देशों की खास लिस्ट में शामिल करने का लक्ष्य दिया है। ब्रिक्स और दक्षिण एशियाई देशों में भारत टॉप सुधार करने वाले देश है।विश्व बैंक की यह रैंकिंग 10 मानदंडों मसलन कारोबार शुरू करना, निर्माण परमिट, बिजली कनेक्शन हासिल करना, कर्ज हासिल करना, टैक्स भुगतान, सीमापार कारोबार, अनुबंध लागू करना और दिवाला मामले का निपटान पर आधारित होती है। भारत ने कंस्ट्रक्शन परमिट, सीमाओं में व्यापार, व्यवसाय की शुरुआत, क्रेडिट लेने, बिजली लेने जैसे 6 मापदंडों में सुधार हुआ है।वाणिज्य और उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने मंगलवार को उम्मीद जताई थी कि इस साल भी भारत की रैकिंग में सुधार होगा। उन्होंने कहा था, 'कल आपको एक अच्छी खबर सुनने को मिलेगी कि कारोबार सुगमता के मानदंडों पर भारत की रैंकिंग सुधरी है। हमने इस दिशा में उल्लेखनीय रूप से सुधार किया है।'